सपा में मचे घमासान की दिनभर की 6 बड़ी बातें

समाजवादी पार्टी के भीतर मचे घमासान की बड़ी बातें, कैसा रहा दिनभर का घटनाक्रम और कौन आया बाप-बेटे के बीच तनाव को खत्म करने

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में मचे बवाल का तत्कालिक अंत अखिलेश यादव और रामगोपाल यादव का निष्कासन रद्द करके किया गया है। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव और रामगोपाल यादव को अनुशासनहीनता के चलते शुक्रवार को पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया था, लेकिन जिस तरह से आज अखिलेश यादव ने आज शक्ति प्रदर्शन किया उसके बाद सपा सुप्रीमो को दोनों ही नेताओं के सामने घुटने टेकने पड़े।

akhilesh yadav-shivpal

सपा कार्यालय से लेकर मुख्यमंत्री आवास पर दिनभर सियासी पारा काफी उपर रहा, इस विवाद के बीच आईए डालते हैं दिनभर के सियासी घटनाक्रम पर।

1- अखिलेश यादव ने घर पर किया शक्ति प्रदर्शन
सुबह नौ बजे ही अखिलेश यादव के आवास पर तकरीबन 195 सपा विधायक पहुंचे और अखिलेश यादव को अपना समर्थन दिया, इसके अलावा 17 अन्य दलों के विधायकों ने भी अखिलेश यादव को अपना समर्थन दिया। विधायकों ने कहा कि हम नेताजी की सम्मान करते हैं लेकिन राजनीति आपके ही नेतृत्व में करेंगे।

2- अखिलेश यादव हुए भावुक
विधायकों के साथ बैठक के दौरान अखिलेश यादव ने भावुक होते हुए कहा कि वह उत्तर प्रदेश को एक बार फिर से नेताजी के लिए जीतेंगे। उन्होंने तमाम विधायकों से अपना समर्थन देने को कहा।

यह भी पढ़े- अखिलेश के वर्चस्व के आगे खत्म हुई मुलायम-शिवपाल की सपा

3- विधायकों का फोन जमा कराया गया
अखिलेश यादव के साथ बैठक करने पहुंचे तमाम विधायकों का फोन जमा करा लिया गया और इन तमाम विधायकों को सीएम के आवास से बाहर जाने की अनुमति नहीं दी गई।

4- शिवपाल के समर्थन में सिर्फ 15 विधायक
शिवपाल यादव भी पार्टी कार्याल पहुंचे लेकिन उनके समर्थन में महज 15 विधायक ही पहुंचे, इन विधायकों के अलावा अतीक अहमद भी मुलाकात करने पहुंचे और उन्होंने कहा कि वह कोशिश करेंगे कि परिवार के भीतर यह विवाद खत्म हो और अगर मेरी वजह से यह विवाद है तो वह पीछे हटने को तैयार हैं।

5- विवाद में मांझी बने आजम खान
आजम खान ने मुलायम सिंह से एक घंटे तक मुलाकात करने के बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की और उन्हें लेकर मुलायम सिंह के आवास पर पहुंचे, जहां मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल यादव को भी मुलाकात के लिए बुलाया।

यह भी पढ़े- यूपी में हार भी गए तो 2019 के लिए मोदी के मुकाबले खड़े होंगे अखिलेश

6- शिवपाल ने किया आधिकारिक ऐलान
आजम खान और अबू आजमी के हस्तक्षेप के बाद दोनों अखिलेश यादव व रामगोपाल यादव को निष्कासित किए जाने के फैसले को रद्द करने का शिवपाल यादव ने ऐलान किया। उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक ताकतों से एकजुट होकर लड़ेंगे और 2017 में फिर से सरकार बनाएंगे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Top developments of Samajwadi party feud of the day. After rounds of meet Akhilesh Yadav has been included back in the Samajwadi Party.
Please Wait while comments are loading...