उत्तर प्रदेश चुनाव: उड़न दस्ते ने चेकिंग में पकड़े दस करोड़ रुपए

Subscribe to Oneindia Hindi

मिर्जापुर वाहन चेकिंग के दौरान उड़न दस्ते व यातायात पुलिस ने मिर्जापुर के चील्ह तिराहे से एक निजी वाहन से दस करोड़ रुपये बरामद किया। यह रुपया स्कॉर्पियो के पीछे वाली सीट पर दो बक्सों में भर कर नगर की तरफ ले जाया जा रहा था। वाहन चेकिंग के दौरान रोके जाने पर मामला सामने आया। पुलिस की पड़ताल में पता चला कि इलाहाबाद बैंक के अधिकारी आरबीआई के लखनऊ चेस्ट से बैंक के मुख्य शाखा के रुपये लेकर जा रहे थे। पुलिस ने मामले की जांच के बाद एजीएम को पैसों के साथ जाने दिया।

उत्तर प्रदेश चुनाव: उड़न दस्ते ने चेकिंग में पकड़े दस करोड़ रुपए

इलाहाबाद बैंक के एजीएम रविवार को एक निजी ट्रवेल एजेंसी से स्कॉर्पियो बुक कराके दो गार्ड लेकर लखनऊ रवाना हो गए। आरबीआई के लखनऊ चेस्ट से बैंक ने एजीएम को दो बक्‍सों में लगभग दस करोड़ रुपये दे कर रवाना कर दिया गया। इलाहाबाद से गोपीगंज के रास्ते से रुपये लेकर एजीएम अपनी स्कॉर्पियो से शाम को पांच बजे के करीब चील्ह तिराहे पर पहुंचे तो फ्लाइंग स्क्वॉयड के प्रभारी सुभाष चंद्र सिंह यातायात प्रभारी डीपी सिंह को साथ लेकर वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। उन्होने एजीएम के स्कॉर्पियो को भी चेकिंग के लिए रोक लिए। वाहन रोकने के बाद पुलिस ने पीछे रखे बक्सों के संबंध में पूछताछ की तो पहले तो एजीएम बताने से इनकार कर रहे थे।

जब पुलिस ने सख्ती की तब एजीएम ने बया कि आरबीआई लखनऊ से वे दस करोड़ रुपये इलाहाबाद मुख्य शाखा का लेकर आ रहे है। उड़न दस्ते के प्रभारी ने एजीएम को रोककर आरबीआई के अफसरों से टेलीफोन बात कर कर रहे थे, तब तक बैंक के स्थानीय अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। अफसरों की बातो से संतुष्ट होने पर एजीएम को रुपये सहित छोड़ दिया गया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In Mirzapur region, police recovered ten crore rupees from a van. After investigation, police let officer go with money.
Please Wait while comments are loading...