सपा में चल रहे विवाद को देख 'मुखिया' के लिए परेशान हैं सैफई के लोग

समाजवादी पार्टी और मुलायम सिंह यादव के परिवार में चल रहे विवादों के दौर पर उनके गांव सैफई के लोग भी चिंतित हैं।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में सत्ताधारी दल समाजवादी पार्टी में चल रहे विवाद पर सभी की नजर है। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, बर्खास्त मंत्री और सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव, अमर सिंह और कई अन्य नेताओं के बीच चल रहे राजनीतिक द्वंद पर इनके गांव सैफई की भी नजर है।

mulayam

सभी सुविधाओं से लैस सैफई गांव के लोग अपने 'मुखिया' के लिए परेशान है। सैफई के लोग मुलायम को 'धरती पुत्र', अखिलेश को 'भैया' और शिवपाल को 'चाचा' कहते हैं। ये तीनों उनके लिए 'मुखिया' भी हैं।

ढर्रे पर लौटी सपा, शिवपाल बोले सांप्रदायिक ताकतों से लड़ने के लिए साथ आने की जरूरत

गांव के हाकिम सिंह कहते हैं कि नेता जी के परिवार का हर सदस्य हमारे लिए महत्वपूर्ण है।

1967 से राजनीति में कदम रखने वाले मुलायम सिंह यादव पहली बार संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी से चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे थे।

हमारे लिए बहुत किया नेता जी ने

हाकिम कहते हैं कि नेता जी ने हमारे लिए बहुत कुछ किया और उनका सम्मान यहां के हर घर में किया जाता है। इस समय परिवार में जो हो रहा है उससे हममें से हर कोई इस समय चिंतित है।

अखिलेश के सामने बड़ा नेता बनकर उभरने की चुनौती

सेवानिवृत्त शिक्षक विशुन सिंह का कहना है कि ऐसा लग रहा है जैसे किसी की नजर नेता जी के परिवार को लग गई हो। हम सभी ने तय किया है कि नेता जी के परिवार से बुरी आत्माओं को दूर करने के लिए अनुष्ठान करेंगे।

सेना से रिटायर श्याम सिंह कहते हैं कि कोई भी नेता जी को भूल नहीं सकता है। वो हमेशा महान समाजवादी चिंतक राममनोहर लोहिया के विचारों से प्रभावित रहे हैं।

20,000 में खरीदी थी जीप

श्याम सिंह ने बताया कि वो मुझे आज भी याद है जब नेता जी ने दूर दराज के लोगों से मिलने के लिए 20,000 रुपए में जीप खरीदी थी।

आशु मलिक को चांटा मारने वाले अखिलेश के करीबी मंत्री पवन पांडेय सपा से निष्कासित

गौरतलब है कि इन दिनों समाजवादी पार्टी में सब कुछ सही नहीं चल रहा है। पारिवारिक झगड़े के चलते, पार्टी में बर्खास्तगी और वापसी का दौर जारी है।

बुधवार को ही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्यपाल राम नाईक से भी करीब आधे घंटे की मुलाकात की है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Saifai is worried about family and party of mulayam singh yadav
Please Wait while comments are loading...