अखिलेश के निष्कासन पर कार्यकर्ताओं ने किया बवाल,कहीं सड़क जाम तो कहीं जलाया शिवपाल का पोस्टर

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊसमाजवादी पार्टी में मची घमासान घर के आंगने से सड़क तक कब आ गया किसी को पता नहीं चला। हालात ये है कि पहले सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के नाम पर हुए शीतयुद्ध को पारिवारिक और पार्टी मुखिया ने किसी तरह से शांत किया था। किन्तु बदली परिस्थियों में चाचा की पसंद को वरीयता देकर टिकट बंटवारे ने अब पिता-पुत्र  को सामने ला दिया है। जिसे लेकर प्रदेश में खड़े उनके कार्यकर्ता अब अखिलेश नेतृत्व पर ही भरोसा जता रहे हैं। हालांकि अब इस कलह का एक रूप प्रदेश के कई क्षेत्रों में दिख रहा है। मेरठ, गोरखपुर और वाराणसी सहित कई क्षेत्रों में दिखा। कहीं पार्टी कार्यकर्ताओं ने बुद्धि सुद्धि यज्ञ किया तो कहीं सड़कों पर हंगामा किया।

अखिलेश के समर्थन में नारेबाजी

अखिलेश के समर्थन में नारेबाजी

ये तस्वीर वाराणसी की है। जहां काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के सामने पार्टी कार्यकर्तओं ने जम कर हंगामा किया। इतना ही इस दौरान शिवपाल की तस्वीर भी जलाई गई।सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव द्वारा सूबे के मुखिया सीएम अखिलेश यादव को पार्टी से निकाले जाने के बाद के समर्थक सड़को पर उतर गए। पीएम मोदीके संसदीय क्षेत्र वाराणसी में छात्र संगठन के कई युवाओं ने शिवपाल का पोस्टर जलाकर अखिलेश के समर्थन में नारेबाजी की।

जलाया शिवपाल का पोस्टर

जलाया शिवपाल का पोस्टर

अखिलेश यादव के पार्टी से 6 साल के निष्काशन की खबर जैसे ही बाहर निकली वैसे ही कार्यकर्ताओं ने अपना आपा खो दिया। काशी हिंदू विश्वविद्यालय के अखिलेश प्रशशंक छात्रों ने विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर एकत्रित होकर समर्थन में जमकर नारेबाजी की। यही नहीं उन्होंने शिवपाल यादव के पोस्टरों को आग के हवाले कर के अपना विरोध भी दर्ज कराया ।

समर्थन के चक्कर में लग गया जाम

समर्थन के चक्कर में लग गया जाम

तस्वीर प्रदेश के मेरठ से जहां बेगमपुल चौराहे पर सपा के सैकड़ो युवा कार्यकर्ताओं ने अर्द्धनग्न होकर अखिलेश यादव के समर्थन में जोरदार प्रदर्शन किया और सड़को पर जाम लगाते हुए बसों पर चढ़कर नारेबाजी की । अखिलेश समर्थको ने साफ किया है कि वो पार्टी से चुना लडें या ना लडें लेकिन प्रदेश युवाओं का समर्थन उनके साथ रहेगा। वहीं इस दौरान जाम की स्थिति पैदा हो गई थी।

कराया दूध से स्नान

कराया दूध से स्नान

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव और उनके भाई शिवपाल यादव की बुद्धि को शुद्ध करने के लिए समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ताओं ने गोरखपुर के प्रमुख चेतना तिराहा पर बुद्धि-शुद्धि यज्ञ किया और अखिलेश यादव की तस्वीर को दूध से नहलाया, जिससे उन्हें नजर ना लगे। हालांकि कार्यकर्ताओं ने मीडिया से इस बाबत किसी बड़े सपाई का नाम नहीं लिया। लेकिन परोक्ष रूप से साफ है कि यह यज्ञ किसके लिए और क्यों किया गया।

बाहरी शक्तियां कर रही हैं काम

बाहरी शक्तियां कर रही हैं काम

कार्यकर्ताओं का कहना है कि अखिलेश यादव पर दवाब बनाने के लिए कुछ बाहरी शक्तियां काम कर रही हैं। जिनको हटाने के लिए हम लोग सद्बुद्धि यज्ञ कर रहे हैं। जो उनके विरोधी हैं ,उनका कोई असर अखिलेश यादव पर ना पड़े इसलिए हमने दुग्धस्नान कराया है।

ये भी पढ़ें: अखिलेश हुए बागी, मुलायम हुए कठोर, समाजवादी कुनबे को फायदा या नुकसान?  

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Rift in samajwadi party,now leaders pray for CM akhilesh yadav in different areas of uttar pradesh
Please Wait while comments are loading...