रामपुर: बसपा उम्मीदवार को करारा झटका, आज़म खां के बेटे को मिली क्लीन चिट

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

रामपुर। यूपी के मंत्री और सपा के कद्दावर नेता आजम खां के बेटे और स्वार टांडा सीट से प्रत्याशी अब्दुल्ला आजम की उम्र को लेकर सस्पेंस खत्म हो चुका है। गौरतलब है कि अब्दुल्ला के नामांकन में उनकी कम उम्र की शिकायत को ख़ारिज कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि इसी विधानसभा क्षेत्र से बसपा के उम्मीदवार नवाब काज़िम अली उर्फ़ नवेद मियां ने जिलाधिकारी को एक लिखित शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें अब्दुल्ला की उम्र 24 वर्ष 7 माह होने का दावा किया गया था। ये भी पढे़ं: रामपुर: आजम खां ने कहा मायावती कौम की हितैषी होतीं तो 403 मुसलमान उतारतीं

रामपुर: बसपा उम्मीदवार को करारा झटका, आज़म खां के बेटे को मिली क्लीन चिट

वहीं, बसपा उम्मीदवार द्वारा की गई इस शिकायत पर डीएम ने एक तीन सदस्यीय समिति का गठन कर दिया था। समिति ने सोमवार को रिटर्निंग ऑफिसर के समक्ष अपनी रिपोर्ट पेश की। वहीं, रिटर्निंग ऑफिसर ने शिकायतकर्ता नवेद मियां से अबदुल्ला की उम्र को लेकर प्रमाण मांगा। जिसपर नवेद और उनके अधिवक्ता कोई प्रमाण प्रस्तुत नहीं कर सके। जबकि अब्दुल्ला के पक्ष में उनके अधिवक्ता ने लखनऊ नगर निगम की ओर से जारी अब्दुल्लाह का जन्मतिथि प्रमाणपत्र जारी कर दिया। वहीं, प्रमाण पत्र के आधार पर ही रिटर्निंग ऑफिसर ने नवेद की शिकायत को ख़ारिज करते हुए अब्दुल्ला के नामांकन को वैद्य घोषित कर दिया। दरअसल, चुनाव आयोग के नियमानुसार नामांकन में आयु की वर्ष का कॉलम होता है न की तिथि की शर्त होती है।

कौन हैं अब्दुल्ला आजम

अब्दुल्ला आजम सपा के कद्दावर नेता आजम खान के बेटे हैं। आजम खान ने अपने बेटे को स्वार टांडा विधानसभा से कांग्रेस की पूर्व सांसद बेगम नूरबानो के बेटे नवाब काजिम अली खान उर्फ नावेद मियां के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा है। नावेद लगातर स्वार टांडा से चुनाव जीतते आए हैं। इस बार आजम खान अपने बेटे से नावेद को हराकर स्वार टांडा में नवाब घराने की राजनीति को टक्कर देना चाहते हैं। स्वार टांडा के चुनावी मैदान में अब्दुल्ला आजम और नावेद मियां के अलावा भाजपा से लक्ष्मी सैनी किस्मत आजमा रही हैं। ये भी पढ़ें: यूपी में पांच ताबड़तोड़ रैलियों को संबोधित करेंगे अखिलेश याद

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
rampur azam khan son abdullaha azam ends suspence of his date of birth in uttar pradesh.
Please Wait while comments are loading...