यूपी विधानसभा चुनाव के लिए राम की ओर लौटी BJP, अमित शाह ने कहा - संवैधानिक तरीकों से बनेगा राम मंदिर

राम मंदिर के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी लौट चुकी है। लखनऊ में घोषणा पत्र जारी करते हुए अमित शाह ने इस बात का ऐलान किया।

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने उत्तर प्रदेश के लखनऊ स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी किया। अपने घोषणा पत्र को लोक कल्याण संकल्प पत्र बताते हुए शाह ने कई सारे वादे और दावे किए। आखिर में उन्होंने कहा कि जिसका आप सभी को इंतजार है वो भी हमारे संकल्प पत्र में है। कहा अगर सरकार बनी तो संवैधानिक तरीकों से राम मंदिर बनवाया जाएगा।

यूपी विधानसभा चुनाव के लिए राम की ओर लौटी BJP, अमित शाह ने कहा - संवैधानिक तरीकों से बनेगा राम मंदिर

राम मंदिर का मुद्दा भाजपा और उत्तर प्रदेश के लिए नया नहीं है। बता दें कि बीते दिनों पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा था कि अगर भाजपा यूपी में सत्ता में आई तो अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा। हालांकि बाद में अपने बयान से पलटते हुए केशव ने कहा कि मैंने इस तरह का कोई बयान नहीं दिया है। मैंने जो कुछ भी कहा, उसे गलत ढंग से पेश किया गया है।

ये रहा है इतिहास

यूं तो मामला वर्ष 1528 से चल रहा है लेकिन राम मंदिर मुद्दे के परिदृश्य में भाजपा वर्ष 1984 से आई। वर्ष 84 में कुछ लोगों ने विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की अगुवाई में जन्म स्थल को 'मुक्त' करने और वहां राम मंदिर बनाने के लिए समिति बनाई। फिर भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी ने संभाल लिया था। इसके बाद कुछ वर्षों तक विहिप इस मामले में सक्रिय रही। वर्ष 92 में बाबरी मस्जिद को भीड़ ने ध्वस्त कर दिया।

इसके बाद वर्ष 98 में अटल बिहारी बाजपेयी के नेतृत्व में भाजपा की केंद्र में सरकार बनी। हालांकि एक ऐसा वक्त भी आया जब भाजपा ने खुद को इस मुद्दे से पीछे खींचने की कोशिश की।

तब घोषणा पत्र में नहीं था मुद्दा

वर्ष 2002 में प्रदेश में विधानसभा चुनाव के दौरान राम मंदिर के मुद्दे को अपने घोषणापत्र में शामिल करने से मना कर दिया था। लेकिन अब पार्टी इस मुद्दे से पीछे हटती नहीं दिख रही है।

भले ही राम मंदिर का जिक्र घोषणा पत्र के आखिर में हो लेकिन ये मुद्दा विकास और तमाम अन्य दावों पर भारी ही पड़ता है। इससे पहले लोकसभा चुनाव के दौरान जारी किए गए घोषणा पत्र में भी राम मंदिर बनाए जाने की घोषणा की गई थी।

घोषणा पत्र जारी करने के बाद राम मंदिर से जुड़े तमाम सवालों पर शाह ने यही कहा कि पार्टी इस मुद्दे पर आगे बढ़ रही है। यह पूछे जाने पर कि बीते ढाई साल में सरकार ने क्या किया, शाह गोलमोल जवाब दे गए। ये भी पढ़ें: यूपी विधानसभा चुनाव 2017: शाह ने जारी किया बीजेपी का घोषणा पत्र, ये रहे अहम ऐलान...

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Ram Mandir makes a comeback in BJP Manifesto for Uttar Pradesh
Please Wait while comments are loading...