Video: मथुरा के मुड़िया मेले में रेल प्रशासन फेल, छत पर बैठ यात्रा कर रहे लोग

Subscribe to Oneindia Hindi

मथुराउत्तर प्रदेश स्थित मथुरा में मुडिया मेला अपने चरम पर है और यहां देश के तमाम लोगों के आने का सिलसिला जारी है लेकिन हर साल गुरु पूर्णिमा के अवसर पर आयोजित होने वाले इस मेले से लिए रेलवे की तैयारी कम पड़ गई। 

ये है आलम

ये है आलम

5 जुलाई से आज 9 जुलाई तक आयोजित किए जा रहे इस मेले में श्रद्धालु कभी टॉयलेट में सफर कर रहे हैं तो कभी ट्रेन की छत पर बैठ कर। यहां मथुरा कासगंज पैसेंजर का आलम ये है कि लोगों को ट्रेन के इंजन, छत, दरवाजों और खिड़कियों पर बैठकर सफर करना पड़ रहा है।

जान की परवाह नहीं

जान की परवाह नहीं

वीडियो में आप देख सकते हैं कि श्रद्धालु अपने जान की परवाह किए बगैर यात्रा कर रहे हैं। वहीं रेलवे प्रशासन का दावा है कि मेला स्पेशल ट्रेनों को चलाया गया है। हालांकि बदइंतजामी साफ-साफ नजर आ रही है।

यात्री टॉयलेट में बैठे

यात्री टॉयलेट में बैठे

मथुरा जंक्शन पर ही खड़ी झेलम एक्सप्रेस के द्वितीय श्रेणी के डिब्बे की इस तस्वीर में आप देख सकते हैं कि यात्री टॉयलेट में बैठे हैं। कई ट्रेन की खिड़कियों पर लटके हुए हैं और तो कई दरवाजे पर लटक कर यात्रा कर रहे हैं। यात्रियों से बात की गई तो इनका कहना था कि ट्रेन में जगह नही है और घर पहुंचना है। इसीलिए टॉयलेट में बैठ कर जाना पड़ रहा है।

रेलवे का दावा फेल

रेलवे का दावा फेल

यह बात दीगर है कि रेलवे हर बार यही दावा करता है कि मुडिया पूर्णिमा मेले पर आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। यात्रियों के आने-जाने के लिए ट्रेनों की कमी आड़े नहीं आएगी। लेकिन हर बार ये दावे सिर्फ खोखले ही नजर आते हैं और रेलवे प्रशासन सिर्फ अपने दावों की दुहाई ही देता नजर आता है।

देखें वीडियो:

ये भी पढ़ें: आदर्श हाउसिंग सोसाइटी घोटाला: जांच में दो पूर्व सेनाध्यक्षों के नाम आए सामने

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Rail administration fails at Mathua's mudia fair, people traveling on the terrace
Please Wait while comments are loading...