मोदीजी ने देश के गरीब का खून निकाल लिया- राहुल गांधी

जौनपुर की रैली में राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर जमकर बोला हमला, बोले देश की जनता को त्रस्त कर दिया।

Subscribe to Oneindia Hindi

जौनपुर। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जौनपुर में विशाल जनसभा में पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने कालाधन पर सर्जिकल स्ट्राइक नहीं की है, बल्कि हिंदुस्तान की जनता पर फायर बॉबिंग की है। 

rahul gandhi

आपके पैसों से अमीरों का कर्ज माफ होगा
8 लाख करोड़ रुपए हिंदुस्तान के 50 परिवारों ने बैंकों से ले रखा है, नरेंद्र मोदी इन लोगों से पैसा नहीं ले सकते हैं। इसलिए उन्होंने 99 फीसदी गरीब जनता से पैसा छीना और उसे बैंक में डलवाया। आने वाले समय में नरेंद्र मोदी जी आपके पैसों से उन परिवारों का 8 लाख करोड़ रुपए का कर्ज माफ करके दिखाएंगे।

मोदी जी प्लानिंग एकदम ठीक है
कुछ लोग कहता है कि नरेंद्र मोदी जी की प्लानिंग गलत थी, लेकिन मैं कहता हूं कि प्लानिंग बिल्कुल सही है। अगर आपको इसे समझना है कि तो यह समझना चाहिए कि इस फैसले का लक्ष्य क्या है।

जानबूझकर आपके पैसों को निकालने की सीमा तय की गई जिससे की आपका पैसा बैंकों में जमा रहे। आने वाले समय में वह 8 लाख करोड़ रुपए माफ किया जाएगा। जो पैसा आपके खून, पसीने का है। 

99 फीसदी लोगों के खिलाफ नोटबंदी का फैसला
राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस देश से भ्रष्टाचार हटाना चाहती है और केंद्र सरकार ने कोई फैसला ऐसा लिया तो हम उनका समर्थन करेंगे। लेकिन नोटबंदी का फैसला ना तो भ्रष्टाचार के खिलाफ ना कालाधन के खिलाफ था। बल्कि देश के गरीब व 99 फीसदी के लोगों के खिलाफ था। यह देश के गरीब, मजदूरों और किसानों के खिलाफ था।

किसानों के कर्ज पर एक शब्द नहीं कहा
राहुल गांधी ने कहा कि गरीब इमानदार का मोदी जी ने बिना पूछे खून निकाल लिया है। मैंने पीएम से मिलककर कहा कि देश के किसानों का कर्ज माफ कीजिए उन्होंने जवाब नहीं दिया, उन्होंने एक शब्द नहीं कहा।

पीएम ने मजदूरों का मजाक उड़ाया
पीएम ने मनरेगा का मजाक उड़ाया, उन्होंने कहा कि मनरेगा का किसान गड्ढा खोदता है। लेकिन देश का मजदूर गड्ढा नहीं खोदता है, वह देश को बनाने का काम करता है।

सिर्फ 6 फीसदी कालाधन कैश में है
राहुल ने कहा कि देश का 60 फीसदी धन 1 फीसदी अमीरों के पास है। यह पैसा देश के सिर्फ 50 परिवारों के पास है। सिर्फ 6 फीसदी कालाधन कैश में है जबकि 94 फीसदी कालाधन विदेशी बैंक खाते, जमीन, सोने और रीयल स्टेट में है।

ऐसे में सवाल उठता है कि 6 फीसदी कालाधन के पीछे पीएम मोदी क्यों दौड़े 94 फीसदी के पीछे क्यों नहीं गए।
नरेंद्र मोदीजी को अच्छी तरह से मालूम है कि ज्यादा से ज्यादा कालाधन जमीन, सोना, विदेशी खाता में है। उन्होंने पिछले चुनाव में कैश की बात नहीं की थी, उन्होंने विदेशी बैंक खातों की की थी। उन्होंने कहा था कि विदेशी बैंक खातों में जमा पैसा वापस लाउंगा। उन्हों मालूम है कि ज्यादा से ज्यादा कालाधन 1 फीसदी लोगों, 50 परिवारों के पास है।

स्विस बैंक ने दिया मोदी जी को खाताधारकों की लिस्ट

स्विट्जरलैंड की सरकार ने स्विस बैंक की लिस्ट मोदी सरकार के पास है। वो सारे नाम मोदी सरकार के पास है, हमने संसद में कई बार कहा कि उन चोरों के नाम आप संसद में रखिए।

माल्या को दी 1200 करोड़ रुपए की टॉफी
8 नवंबर के बाद नरेंद्र मोदीजी ने 1200 करोड़ रुपए की टॉफी विजय माल्या के मुंह में डाली है। उसका 1200 करोड़ रुपए का कर्जा माफ किया है। लोग कहते हैं कि नरेंद्र मोदी झूठ बोलता है, मेरा पैसा कहा है, ललित मोदी लंदन में क्यों बैठा है, विजय माल्या विदेश में क्यों बैठा है।

घबरा गए थे पीएम मोदी

जनता के इन सवालों के बाद नरेंद्र मोदी घबरा गए, लोग 15 लाख रुपए मांग रहे हैं, जो मैंने वायदा किया था। लेकिन वो उसे निकाल नहीं सकते थे। उन्ही 50 परिवारों की वजह से वह सत्ता में आए हैं। उन्हीं की वजह से टीवी पर आते है, बड़े-बड़े पोस्टर लगाए। इसी से बचने के लिए उन्होंने कालाधन पर सर्जिकल स्ट्राइक करने का आइडिया निकाला।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Rahul GAndhi takes on PM modi over demonetisation in Jaunpur.
Please Wait while comments are loading...