इटावा: वोट मांगने आए शिवपाल को दिखाए काले झंडे, लगे मुर्दाबाद के नारे

Subscribe to Oneindia Hindi

इटावा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चाचा की मुसीबतें बढ़ती ही जा रही हैं। शिवपाल सिंह यादव अपने चुनावी जनसभा के लिए विधानसभा जसवंतनगर के पुरैला गांव में पहुंचे तो वहां के आक्रोशित लोगों ने उनको काले झंडे दिखाकर मुर्दाबाद के नारे लगाए।

Read Also: प्रदेश में सबसे कम महिलाओं को टिकट देने वाली पार्टी बनी बसपा

इटावा: वोट मांगने आए शिवपाल को दिखाया काला झंडा, लगे मुर्दाबाद के नारे

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्टीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव खासी मुसीबत में फंस गए है । असल में वह अपने निर्वाचन क्षेत्र जसवंतनगर के कई गांवों में इस वक्त वोट मांगने में के लिए जा रहे हैं। इलाके के लोग उनका विरोध करने में जुट गए हैं। विरोध करने के पीछ लोग यह वजह बता रहे हैं कि लोहिया आवास के वितरण में शिवपाल समर्थक सपा नेताओं ने गड़बड़ी की। शिवपाल के सामने लोग उनको काला झंडा दिखाकर मुर्दाबाद के नारे लगाते देखे गए।

इटावा: वोट मांगने आए शिवपाल को दिखाया काला झंडा, लगे मुर्दाबाद के नारे

शनिवार को देर शाम छह बजे के करीब ताखा तहसील के गांव पुरैला में वोट मांगने के लिए पहुंचे। शिवपाल सिंह यादव को उस समय खासी मुसीबत का सामना करना पड़ा जब करीबन 250-300 की तादात में समाजवादी पार्टी के समर्थकों ने काला झंडा और तख्ती लेकर शिवपाल सिंह का विरोध किया और मुर्दाबाद के नारे लगाए। हलांकि शिवपाल सिंह इस वाकिये को देख करके कुछ भी नहीं बोल सके लेकिन पूर्व जिला अध्यक्ष अशोक यादव ने गुस्साए लोगों को मनाने की कोशिश की। लेकिन लोग नहीं माने। वो नारेबाजी करते रहे।

लोगों का कहना है कि शिवपाल सिंह यादव के दबाव में कई लोगों को लोहिया आवास का आवंटन सही ढंग से किया गया। इस मामले में लोगों ने पूर्व ब्लॉक प्रमुख जयराज यादव पर भी आरोप लगाया।

Read Also: भाजपा प्रत्याशी का विवादित बयान, 'अगर पार्टी जीती तो कार्यकर्ताओं के घर से चलेंगे थाने'

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Shivpal Singh Yadav faced agitation of public in a election meeting in Etawah.
Please Wait while comments are loading...