नोटबंदी के खिलाफ विपक्ष के भारत बंद पर पीएम ने कहा- हम भ्रष्टाचार बंद कर रहे हैं, वो भारत बंद

उत्तर प्रदेश स्थित कुशीनगर में एक रैली के दौरान पीएम ने विपक्ष पर बड़ा हमला बोला।

Subscribe to Oneindia Hindi

कुशीनगर। रविवार (27 नवंबर) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय जनता पार्टी की परिवर्तन रैली के लिए उत्तर प्रदेश स्थित कुशीनगर आए हुए थे। यहां उन्होंने बड़ी संख्या में मौजूद लोगों को संबोधित किया।

इस दौरान पीएम ने गन्ना किसानों की समस्या से लेकर नोटबंदी तक के प्रकरण पर चर्चा की। आईए आपको बताते हैं पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कौन सी 10 बड़ी बाते कहीं।

विश्वास को कभी नहीं पहुंचने दूंगा चोट

विश्वास को कभी नहीं पहुंचने दूंगा चोट

  • अपने संबोधन की शुरूआत भोजपुरी में करते हुए पीएम मोदी ने कहा- कुशीनगर की इ पवित्र भूमि के प्रणाम करत बानी। सब काम धाम, खेती बाड़ी, जोतनी - बोवनी छोड़ के रउवा लोगन लोग इतनी बड़ी संख्या में यहां आइल बिड़ी, इ देख के हमार मन गदगद हो गईल बा। आप लोगन के इ प्रधानसेवक कै नमस्कार। इ भगवान बुद्ध कै धरती है, भगवान महावीर कै धरती है।
  • पीएम ने कहा कि जब मैं लोकसभा चुनाव के दौरान एक सभा में आया था तो फिलहाल मौजूद लोगों में से आधे लोग भी नहीं आते थे। माताएं-बहने नहीं आती थी। लेकिन आज इतनी बड़ी तादाद में लोग आए हैं, यह दिखाता है लोग मुझ पर विश्वास करते हैं। पीएम ने कहा कि आपके आशीर्वाद से मैं आपके विश्वास को कभी चोट नहीं पहुंचने दूंगा।
अखिलेश सरकार पर हुए हमलावर

अखिलेश सरकार पर हुए हमलावर

  • इस दौरान पीएम ने प्रदेश की अखिलेश सरकार पर हमला करते हुए कहा कि मैं उत्तर प्रदेश सरकार को यह बताना चाहता हूं कि अगर वो राज्य के किसानों की चिंताओं के बारे में चिंतित होते तो वो प्रधानमंत्री बीमा फसल योजना लागू करते। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठी सरकार दलित,पीड़ित, शोषित, गरीबों, किसानों और गांव के लोगों के लिए समर्पित है।
  • पीएम ने कहा कि यहां के गन्ने के किसानों ने कैसी-कैसी समस्याओं का सामना किया ये कौन नहीं जानता? पीएम ने कहा कि अब वो जमाना गया जब सरकार में बैठे लोग ये मानते थे कि वो तो देने वाले हैं लेकिन हम तो सेवक हैं। आपका कष्ट हमारा कष्ट है। आपकी सेवा करना हमारी जिम्मेदारी है। पीएम ने कहा कि आपने मुझे इतना दिया है कि मैं तो यहां चुकाने आया हूं।

#mann ki baat: कैशलेस की जगह लेस कैश के लिए काम करें: पीएम मोदी

नहीं मरने दिया गन्ना किसान को

नहीं मरने दिया गन्ना किसान को

  • पीएम ने कहा कि जब हमारी सरकार आई तो गन्ना किसानों के 22,000 करोड़ रुपए बाकी थे। हमने कोशिश की कि किसानों को उनका पैसा समय पर दे दिया जाए। हमने बहुत हद तक बकाये की राशि खत्म कर दी है। पीएम ने कहा कि गन्ने के किसान को मरने नहीं दिया, ये काम हमने कर के दिखाया। कहा कि गन्ने कि किसानों के बकाया 20,000 करोड़ में केंद्र ने ज्यादातर चुका दिया है। अब सिर्फ कुछ ही पैसे बचे हैं। बाकी सारी पैसे किसान के घर तक पहुंच गए।
  • पीएम ने कहा कि हमने गन्ना किसानों को मरने नहीं दिया। ये हमने कर दिखाया। कहा कि हमने चीनी मिलों से कहा कि वो एथनॉल पैदा करें। अगर चीनी की कीमते कम हो जाएं तो एथनॉल बनाइए लेकिन किसान को मरने नहीं दिया जाएगा।

#demonetisation: मर्यादा की सारी हदें पार, सिब्बल ने मोदी की तुलना तुगलक से की

बड़े लोगों को होगी बड़ी तकलीफ

बड़े लोगों को होगी बड़ी तकलीफ

  • यूरिया समस्या पर पीएम ने कहा कि हड्डियां पिघल जाएं, ऐसी ठंड में किसान को यूरिया के लिए कतार में खड़े रहना पड़ता था और किसी को कोई फर्क नहीं पड़ा। कहा कि एक समय था किसान को यूरिया के लिए घंटो कतार में खड़ा रहना पड़ता था, लेकिन अब यूरिया के लिए किसान को लाइन में नहीं लगना पड़ता।
  • नोटबंदी पर पीएम मोदी ने कहा कि बीते दिनों हमने 500 और 1,000 के नोट बंद कर भ्रष्टाचार के खिलाफ निर्णय लिया। पीएम ने वहां मौजूद लोगों से पूछा कि देश को भ्रष्टाचार, कालेधन से मुक्त कराना चाहिए या नहीं? पीएम ने कहा कि आज मैं देश का आभार व्यक्त करने आया हूं। पीएम मोदी ने कहा कि हक का पैसा सबको मिलना चाहिए लेकिन लूट का नहीं। मैंने देश से 50 दिन मांगे हैं। कहा कि जो बड़े-बड़े हैं उनको बड़ी तकलीफ होगी, छोटे-छोटे लोगों को छोटी तकलीफ तो होगी ही।
रेल मंत्री लगे हुए हैं

रेल मंत्री लगे हुए हैं

  • पीएम ने 28 नवंबर को विपक्ष की ओर बुलाए गए भारत बंद पर कहा कि भ्रष्टाचार का रास्ता बंद होना चाहिए या भारत बंद? पीएम ने कहा कि हम काले धन और भ्रष्टाचार को बंद करने की बात कर रहे हैं और वो भारत बंद करने की बात कर रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि बिना पैसे कारोबार चलने की दिशाा में सारी दुनिया चल पड़ी है। हम पीछे रह गए, पर अब भारत पीछे नहीं रहेगा।
  • पीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश का भला तब तक नहीं होगा, जब तक कि प्रदेश का पूर्वी हिस्सा विकसित नहीं होगा। कहा कि हमारे रेल मंत्री मनोज सिन्हा दिन रात लगे हुए हैं कि कैसे लोगों को रेल का लाभ मिले।

नोटबंदी के खिलाफ 28 नवंबर को भारत बंद, दिखेगा मिला जुला असर

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
PrimeMinister Narendra Modi said UP govt not interested in implementing central schemes for farmers
Please Wait while comments are loading...