यूपी के हर जिले में SSP कार्यालय में अब दर्ज हो सकेगी FIR

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने तमाम जिलों के पुलिस मुखिया को निर्देश दिया है कि वह अपने कार्यालय में एफआईआर दर्ज कराने के लिए काउंटर जल्द से जल्द खोलें। इन काउंटर पर अब लोग अपनी एफआईआर दर्ज करा सकते हैं, जिनकी एफआईआर पुलिस स्टेशन के कई चक्कर लगाने के बाद भी दर्ज नहीं हुई है। इसके साथ ही पुलिसकर्मियों को निर्देश दिया गया है कि वह बिना जाति, धर्म और संप्रदाय देखे इन लोगों की एफआईआर को जल्द से जल्द दर्ज करें।

सभी एसएसपी कार्यालय में खुलेंगे FIR काउंटर

सभी एसएसपी कार्यालय में खुलेंगे FIR काउंटर

यूपी के गृह मंत्रालय की ओर से गुरुवार को यह निर्देश जारी किया गया है कि एफआईआर दर्ज करने में गैरजरूरी विलंब की वजह से लोगों में सरकार की छवि नकारात्मक होती है, जिसके चलते आम लोगों को एक दफ्तर से दूसरे दफ्तर के चक्कर काटने पड़ते हैं। कई मामलो में एफआईआर दर्ज नहीं की जाती है, जिसके चलते लोगों को कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ता है। ऐसे में सरकार को भरोसा है कि एसएसपी कार्यालय में स्पेशल काउंटर लोगों की मुश्किलों को कम करने के लिए काफी मददगार साबित होगा।

आंकड़े बयां करते हैं हकीकत

आंकड़े बयां करते हैं हकीकत

भाजपा ने यूपी चुनाव से पहले अपने घोषणा पत्र में वायदा किया था कि वह प्रदेश में निर्भीक माहौल मुहैया कराएगी, इसके साथ ही बिना भेदभाव के लोगों की एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। आपको बता दें कि एक वर्ष में यूपी में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और केरल की तुलना में कहीं ज्यादा एफआईआर दर्ज होती है। एनसीआरबी की रिपोर्ट के मुताबिक तकरीबन 2.75 लाख एफआईआर आईपीसी की तमाम धाराओं के तहत 2015 में महाराष्ट्र में 2.75 लाख, मध्य प्रदेश में 2.68 लाख, केरल में 2.57 लाख एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं 2015 में उत्तर प्रदेश में 2.42 लाख, दिल्ली में 1.91 लाख एफआईआर दर्ज की गई है।

गलत शिकायत दर्ज करने वालों पर होगी कार्रवाई

गलत शिकायत दर्ज करने वालों पर होगी कार्रवाई

वहीं सरकार के इस फैसले पर कई अधिकारियों का मानना है कि इसके बाद फर्जी शिकायतों का मामला बढ़ेगा। प्रदेश के डीजीपी सुलखान सिंह ने कहा कि अधिकतर लोगों का इसका लाभ मिलेगा, लेकिन अगर जांच में शिकायत गलत पाई गई तो शिकायतकर्ता के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। वहीं इस फैसले के बाद वकीलों का मानना है कि पुलिस को शिकायतों का जल्द से जल्द निपटारा करने की भी कोशिश करनी चाहिए।

सोशल मीडिया पर अफवाह को दूर करेगी युवा टीम

सोशल मीडिया पर अफवाह को दूर करेगी युवा टीम

पुलिस विभाग ने हाल के दिनों में आम जनता की समस्याओं के समाधान के लिए कई अहम सेवाओं की भी शुरुआत की है, जिसमें ई-एफआईआर की योजना शुरु की गई है, जिसके तहत अब आप ऑनलाइन पोर्टल पर अपनी एफआईआर दर्ज करा सकते हैं। इसके अलावा मोबाइल चोरी, दस्तावेजों के लापता होने की शिकायत भी आप ऑलाइन दर्ज कर सकते हैं। इसके साथ ही सरकार युवा लोगों की एक टीम बनाने की कोशिश कर रही है जो लोगों सोशल मीडिया पर फैलाए जा रहे अफवाह से सचेत करेगी।

अहम होगा एसएसपी कार्यालय में FIR काउंटर

अहम होगा एसएसपी कार्यालय में FIR काउंटर

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से जिस तरह से प्रदेश की कानून व्यवस्था की हालत बिगड़ी है उसने योगी सरकार की मुश्किलें काफी बढ़ा दी हैं। महज तीन महीने के कार्यकाल में सहारनपुर, मथुरा सहित कई जगहों पर हिंसक घटनाओं ने पुलिस व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लगातार कई बड़े फैसले लिए, जिसमें यह फैसला काफी अहम माना जा रहा है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Now FIR counter to start at all districts police chief in UP. Officials are asked to set the counter from immediate effect.
Please Wait while comments are loading...