शिवलिंग के पास पड़ा था पुजारी का गला कटा शव, जलाभिषेक करने पहुंचे श्रद्धालुओं के उड़े होश

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। संगम नगरी भी सावन में हर हर महादेव के जयकारे से गूंज रही है तो वहीं एक प्राचीन शिव मंदिर के पुजारी 'नेपाली बाबा' की गला काट कर हत्या कर दी गई। घटना रात में की गई और सुबह श्रद्धालुओं ने लाश देखी। मंदिर में सुबह शिवलिंग पर जलाभिषेक करने पहुंचे श्रद्धालुओं ने पुजारी का गला कटा शव देखा और इसके बाद पुजारी की हत्या की सूचना फैलते ही हड़कंप मच गया। मामला बहरिया इलाके की है। क्षेत्र में आक्रोश के बाद तनाव फैल गया है।

शिवलिंग के पास पड़ा था पुजारी का गला कटा शव, जलाभिषेक करने पहुंचे श्रद्धालुओं के उड़े होश

हत्या किसने और क्यों की ये रहस्य बना हुआ है। पुलिस भी गुत्थी में उलझी है कि आखिर एक साधू की किसी से क्या दुश्मनी रही होगी। फिलहाल पुलिस ने फॉरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड के साथ छानबीन की और पूछताछ के लिए एक संदिग्ध को हिरासत में लिया है। लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की जा रही है।

शिवलिंग के पास पड़ा था पुजारी का गला कटा शव, जलाभिषेक करने पहुंचे श्रद्धालुओं के उड़े होश

फावड़े से काटा गया गला

इलाहाबाद के बहरिया थाना क्षेत्र में बंतरिया गांव में एक प्राचीन शिव मंदिर है। ये शिव मंदिर सोरांव-फूलपुर मार्ग के किनारे है। जिससे यहां काफी भीड़ भी जुटती है। इस प्राचीन शिव मंदिर में दो साल पहले नेपाल से एक साधू आकर पूजा-पाठ कराने लगे। उन्हें 'नेपाली बाबा' के नाम से इलाके में खासी ख्याति मिल गई थी। सीओ फूलपुर अभिनव कनौजिया ने बताया कि मृतक बाबा नेपाल में कहां के रहने वाले थे।

शिवलिंग के पास पड़ा था पुजारी का गला कटा शव, जलाभिषेक करने पहुंचे श्रद्धालुओं के उड़े होश

इसके बारे में किसी को कुछ पता नहीं है। उनकी उम्र 60 के पार थी और लोग उन्हें नेपाली बाबा के नाम से बुलाते थे। सीओ ने बताया कि फॉरेंसिक जांच में पता चला है कि नेपाली बाबा के नींद में होने के दौरान उनपर हमला हुआ। यानी सोते समय किसी ने फावड़े से वार किया। गले पर कुल 4 बार फावड़े से हमले के निशान मिले हैं।

करंट से हुई थी पहले पुजारी की मौत

इस शिव मंदिर का मामला इसलिए भी ज्यादा चर्चा में आ गया। क्योंकि इससे पहले 2007 में भी मंदिर के एक पुजारी की भी मौत हुई थी। तब आरोप था कि किसी ने करंट से पुजारी की हत्या की है। इसमें जमकर हंगामा भी हुआ था। लेकिन इसे दुर्घटना मानकर मौत की फाइल गट्ठर में चली गई। वो मामला आज तक नहीं खुला। लेकिन अब एक और पुजारी की मौत से पुरानी घटना फिर से ताजा हो गई है। अब हत्या किसने की ये पुलिस जांच में कब सामने आएगा। इसका इंतजार फिर शुरू हो गया है। मामले में सीओ कनौजिया ने बताया कि अभी मौत की वजह स्पष्ट नहीं हुई है। एक संदिग्ध हिरासत में है। पूछताछ व जांच चल रही है, जल्द खुलासा होगा।

Read more: अकेली लड़की देख प्रपोज करने लगे नेता जी, गांव वालों ने किया ऐसा हाल मुंह छापते गए घर

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Near Shivling priests deadbody was found in temple
Please Wait while comments are loading...