सलमान ने पेश की मिसाल, सर्द रातो में गायों को ठंड से बचाने के लिए जागते हैं

सलमान ठंड से कांप रही गायों को रोजाना सर्दी से बचाने के लिए उनके शरीर पर बोरे पहनाते है। वो रातभर अपनी साइकिल लेकर शहर में घूमते रहते हैं।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

शाहजहांपुर। देश में पिछले कुछ समय से गाय देश में एक मुद्दा बनी हुई है। गाय के नाम पर हो रही राजनीति और सांप्रदायिकता फैलाने की कोशिशों के बीच एक मुस्लिम शख्स गौसेवा की अनोखी मिसाल पेश कर रह है। ये शख्स हैं उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के सलमान। सलमान ठंड से कांप रही गायों को रोजाना सर्दी से बचाने के लिए उनके शरीर पर बोरे पहनाते हैं और उनका ख्याल करते हैं। सलमान की एक पशुओं के प्रति प्यार को हर कोई एक सराहनीय काम बता रहा है। सलमान रात-रातभर गायों का ख्याल रखने को जागते हैं।

आवारा गायों के लिए रात में मसीहा की तरह आते हैं सलमान

आवारा गायों के लिए रात में मसीहा की तरह आते हैं सलमान

हर शहर में सड़कों पर बड़ी संख्या में पशु घूमते हुए सबको दिखते हैं। दिन में तो कुछ लोग उनको खाने के लिए कुछ दे देते हैं लेकिन रात में वो कैसे रहते हैं, ये ख्याल कोई नहीं करता। जब लोग रात में ठंड की वजह से घरों में दुबके रहते हैं तो सलमान आवारा गायों को ठंड से बचाने का काम करते हैं। वो उनके पास बैठकर गाय पर बोरे डालकर उसको सिलने तक का काम अकेला करते है।

गाय-प्रेम की वजह से छोड़ गई थी पत्नी

गाय-प्रेम की वजह से छोड़ गई थी पत्नी

सलमान के गाय प्रेम देखते हुए उनकी पत्नी उनका घर छोड़कर अपने मायके चली गई थी क्योंकि सलमान ने अपने घर में भी एक गाय पाली है। गाय से उनका प्यार उनके और पत्नी के बीच झगड़े की वजह बन गया। सलमान ने यहां भी हार नहीं मानी और आखिरकार वह अपनी पत्नी को मनाकर वापस अपने घर ले आए और गाय को भी अपने साथ ही रखा।

 पढ़-लिख नहीं सके, बस प्यार को जानते हैं सलमान

पढ़-लिख नहीं सके, बस प्यार को जानते हैं सलमान

सदर बाजार थाना क्षेत्र के मोहल्ला लोधीपुर के सलमान गरीब परिवार से है। सलमान के पिता बमुश्किल अपनी रोजी-रोटी चला पाते हैं। गरीबी के चलते सलमान पढ़-लिख नहीं सके उन्होंने जिंदगी में प्यार की ही भाषा पढ़ी। हर किसी की मदद की उनका पेशा बन गया है। सलमान को पशुओं से प्यार है लेकिन सलमान को गाय बहुत ही अजीज है। सलमान एक बेजुबान जानवर को धर्म में बांटने के लिए बिल्कुल तैयार नहीं, वो ये नहीं मानते कि गाय उनकी कम और किसी दूसरे धर्म के लोगों की ज्यादा हो सकती है। अब लोगो ने जानवरों को भी धर्मों में बांट दिया है जिसको सलमान बिल्कुल भी नहीं मानते है। ठंड बढ़ने के बाद सलमान रोज अपनी पीठ पर एक बैग और साईकिल में कुछ बोरे डालकर रात के अंधेरे में निकल पड़ते हैं। जहां भी सड़क किनारे गाय बैठी मिलती है वो वहीं पर बैग से बोरे निकालकर गाय को ओढ़ाकर उसे सी देते है।

 कुुछ लोगों ने सलमान का मजाक भी बनाया

कुुछ लोगों ने सलमान का मजाक भी बनाया

सलमान बीती रात जब फैक्ट्री स्टेट क्षेत्र में गये तो वहां पर 7 गाय ठंड में बैठी थी। वहीं पर एक मार्केट भी है जहां कुछ लोग खड़े थे जो ठंड दूर करने के लिए कॉफी पी रहे थे। लेकिन सलमान को सिर्फ फिक्र थी तो इन बेजुबान जानवरों की। उन्होंने फौरन अपनी साईकिल से बोरे निकाले और गाय के पास जाकर उस पर डालने लगे। पास में मौजूद लोगो ने पहले तो सलमान का मजाक बनाया लेकिन सलमान को उन लोगों की बिल्कुल फिक्र नहीं थी जो उनका मजाक बना रहे थे फिक्र थी तो बस उन बेजुबान जानवरों कि इस उन लोगो की परवाह किए बगैर सलमान ने बोरों को गायों पर डालकर उसे सुईं से सीना शुरू कर दिया उसके बाद जब हमने उसके फोटो लेना शुरू किए तो वही लोग जो उसका मजाक बना रहे थे वो भी उसका साथ देने लगे और उसके इस कार्य को सराहनीय बताने लगे।

 बचपन से ही जनवरों से रहा है खास लगाव

बचपन से ही जनवरों से रहा है खास लगाव

सलमान की माने तो उन्हें बचपन से ही जानवरों से बहुत प्यार रहा है। खासतौर पर गाय से ज्यादा। वो कहते हैं गाय को सभी को सम्मान देना चाहिए चाहे वो मुस्लिम हो या हिन्दू। सलमान कहते हैं कि गाय कुछ लोगों को राजनीति के लिए तो याद रहती है लेकिन ठंड में उसे भूल जाते हैं। इसलिए वह जब से ठंड शुरू हुई है वो रात में अपने घर से इसे एक काम समझकर साईकिल में बोरे लगाकर निकल जाते है। सलमान का कहना है कि जब उसने अपने घर में गाय पाली थी तब उसके आसपास के लोग जो उसके ही समुदाय के थे वह लोग उससे ऐतराज करने लगे थे। वह लोग इतना नाराज हो गए हैं कि बात भी नहीं करते हैं लेकिन उन्हे इस बात की बिल्कुल फिक्र नही है। सलमान ने कुछ दिन पहले मोहल्ले की रहने वाली गीता देवी नाम की महिला के इलाज के लिए लोगो के बीच जाकर गले में एक पीपा टक्कर भीख मांगी थी। उसने कई दिन भीख मांगकर गीता देवी का इलाज कराया था। गीता देवी कोमा में थी। इलाज शुरू होने के बाद जब गीता देवी ठीक हो गई थी। तो उसके एक महीने के बाद उसकी मौत हो गई थी। सलमान ने उस वक्त भी एक अच्छी मिसाल कायम की थी कि उसकी अर्थी को अपना कंधा दिया था और श्मशान घाट तक लेकर गए थे। इसके लिए भी सलमान को अपने ही समुदाय के कुछ लोगो की नाराजगी झेलनी पड़ी थी।

शहर के लोग अब सलमान को सराहने लगे हैं

शहर के लोग अब सलमान को सराहने लगे हैं

शहर के लोग भी अब सलमान के सेवाभाव की सराहना करने लगे हैं। लोग कहते हैं कि सलमान से सभी को सीखना चाहिए की सब धर्मों की इज्जत कैसे की जाती है। सलमान को देखकर सभी लोगो को इस अच्छे काम के लिए आगे आना चाहिए। ऐसे लोग ही देश की शान है। दुकानदार अंकित का कहना है कि जो लोग बड़ी-बड़ी बाते करते हैं जो सम्मान दिलाने की बात करते हैं अब वो नेता कहां है सलमान को भी सम्मानित करना चाहिए क्योंकि वह एक अच्छा काम कर रहा है साथ ही दो धर्मों में दूरी बनाई हुई हैं उसको भी वह खत्म करने का प्रयास कर रहा है।

भगवान राम का अपमान करने वाले को सजा दिलाने के लिए दे चुका धरना

भगवान राम का अपमान करने वाले को सजा दिलाने के लिए दे चुका धरना

बात दें सलमान करीब 6 महीने पहले भी इसी तरह चर्चा में आए थे। उस वक्त फेसबुक पर किसी ने भगवान राम का फोटो चलाते हुए पोस्ट किया था। उस फोटो को देखकर हिंदू समुदाय में गुस्सा तो था ही लेकिन सलमान की भी भावनाएं आहत हुई थी। जिसके बाद सलमान में उस फोटो में जो शख्स भगवान राम का फोटो जलाते दिख रहा था उस पर कार्यवाही को लेकर धरने पर बैठ गया था। पहले तो मुस्लिम समुदाय के लोगो ने उसका मजाक बनाया लेकिन बाद में सभी धर्मों के लोग उसके साथ धरने पर बैठ गए थे। उस वक्त कार्रवाई को लेकर सलमान 15 दिन धरने पर बैठे थे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
muslim man salman saves stray cows life in shahjahanpur
Please Wait while comments are loading...