1.5 लाख के 100-50 के नोट लेकर बैंक पहुंचा व्यापारी, बैंक ने सराहा

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में व्यापारी ने नोटबंदी से परेशान लोगों के लिए की अनूठी पहल।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

उत्तर प्रदेश। देशभर में बड़े नोटों पर पाबंदी के बाद जहां छोटे नोटों की कालाबाजारी की खबरें आ रही हैं, वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में एक व्यापारी एक लाख पचास हजार के छोटे नोट लेकर बैंक पहुंचा और जमा कर दिया।

वोलक

8 नवंबर को पीएम मोदी के 1000 और 500 के नोट पर बैन की घोषणा के बाद देशभर में कैश की कमी से लोग जूझ रहे हैं। बड़े नोटों पर पाबंदी के बाद 100-50 के नोटों की मांग बहुत ज्यादा बढ़ गई है।

भाजपा मिनिस्टर की गाड़ी से 92 लाख रुपए के 500-1000 के नोट जब्त

ऐसे में जब लोग पुराने नोट से बड़े नोट बदलने के लिए घंटो में लाइन में लग रहे हैं तब मुरादाबाद के एक व्यापारी ने सबका ध्यान खींचा है।

बैंक ने पुराने नोट के बदले दी 10 रुपये के सिक्कों की थैलियां, रकम निकली कम

परेशान लोगों की मदद को उठाया कदम

मुरादाबाद से व्यापारी अवधेश गुप्ता डेढ़ लाख रुपये लेकर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया पहुंचे। सभी नोट 100, 50 और 20 और 10 के थे। उन्होंने कहा कि हर किसी को एक-दूसरे के काम आना चाहिए।

अवधेश का कहना है कि ऐसे वक्त में जब लोग छोटे नोट के लिए बेहद परेशान है। यहां तक कि कई जान तक जा चुकी हैं तो मुझे लगा कि ये नोट परेशान लोगों के काम आने चाहिएं।

अवधेश के डेढ लाख रुपये नोट बैंक में जमा कराने की एसबीआई के बैंक मैनेजर एस टंडन ने भी तारी की है। उन्होंने कहा कि अवधेश ने सराहनीय कदम उठाया है। जिस तरह से छोटे नोटों के लिए लोग परेशान हैं उसे देखते हुए इस वक्त उनकी इस रकम का बहुत महत्व है।

कालाधन सफेद करने का शक, अयोध्या के मंदिरों को आयकर का नोटिस

पीएम ने 8 नवंबर की शाम की थी घोषणा

आपको बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार 500 और 1000 के नोट पर बैन की बात कही थी। राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम ने कहा था कि ब्लैक मनी पर प्रहार करने के लिए 1000 के नोट बंद होंगे जबकि 500 के नोट बदले जाएंगे।

पीएम ने 1000 और 500 रुपये के मौजूदा करंसी नोटों को 8 नवंबर की रात 12 बजे से बंद करने का ऐलान किया। पीएम मोदी ने कहा था कि 500 और 1000 रुपये के करैंसी नोट कानूनी रूप से मान्य नहीं रहेंगे।

पीएम मोदी ने इस बैन का उद्देश्य बताते हुए कहा कि हम जाली नोटों और करप्शन के खिलाफ जो जंग लड़ रहे हैं, इससे उस लड़ाई को ताकत मिलेगी।

नोटबंदी के खिलाफ भाजपा सांसदों ने ही खोला मोर्चा

जनता को परेशानी, विपक्षी दल कर रहे विरोध

पीएम मोदी के फैसले पर विपक्ष दल कड़ा एतराज जता रहे हैं। अखिलेश यादव फैसले का विरोध कर चुके हैं, तो वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी फैसले को जनता पर मार कह चुके हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इसे एक खराब फैसला बता रहे हैं। दोनों फैसले के खिलाफ सड़क पर हैं।

केंद्र पर बरसे अखिलेश बोले पुराने नोट बदलने में छह महीने से एक साल लगेगा

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे इस फैसले की कड़ी आलोचना कर चुके हैं। बसपा सुप्रीमो मायावती ने 500 और 1000 के नोट को आर्थिक आपातकाल कहा है।

नोटबंदी के बाद पिछले दस दिन से जनता को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। देशभर से जो खबरों के मुताबिक, 40 से ज्यादा मौतें नोटबंदी की वजह से हो चुकी हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Moradabad trader deposits Rs 1 lakh 50 thousand in lower denominations
Please Wait while comments are loading...