मथुरा: फर्जी पासपोर्ट पर रह रहा संदिग्ध विदेशी धराया, जांच में जुटी पुलिस

सादिक के खाते से बड़ी राशि का लगातार बड़ा लेनदेन किया जा रहा था जिसके चलते पुलिस ने शक के घेरे में लेते हुए उसे जेल भेज दिया है और सख्ती से पूछताछ कर मामले की तह तक जाने में जुट गई है।

Subscribe to Oneindia Hindi
मथुरा। पुलिस ने म्यांमार के संदिग्ध शरणार्थी को मंगलवार को गिरफ्तार किया है। उसके खाते से राशि का लगातार बड़ा लेनदेन किया जा रहा था जिसके चलते पुलिस ने शक के घेरे में लेते हुए सादिक को जेल भेज दिया है और मामले की तह तक जाने के लिए जांच करने में जुट गयी है। पुुलिस के मुताबिक, सादिक का पासपोर्ट भी जाली है। मोहम्मद सादिक नाम का ये शख्स पिछले दस वर्षों से मथुरा के गांव औरंगाबाद में रह रहा है और कचरा बीनने का काम करता है।
संदिग्ध म्यांमार शरणार्थी

बता दें कि सादिक वर्ष 2007 में मथुरा आया था और उसने पहचान छिपाकर पासपोर्ट, आधार कार्ड, राशन कार्ड बनवाया और साथ ही वोटर लिस्ट में भी अपना नाम दर्ज करवा लिया। वहीं, आतंकी खतरे के लिहाज से संवेदनशील मथुरा में सामने आया यह मामला खुफिया तंत्र की एक बड़ी नाकामी भी मानी जा रही है।

सादिक 4 भाई और 5 बहनों के साथ मथुरा में आया और कूड़ा बीनने का काम शुरू किया। इस दौरान सादिक ने अपनी तीन बहनों की शादी भी कर दी। पुलिस सूत्रों की मानें तो इस पर शक उस समय हुआ जब इसके खाते से बड़ी रकम का लेनदेन देखने को मिला। वहीं, इसी लेनदेन के कारण केंद्रीय एजेंसियों के निशाने पर आया सादिक की जब ख़ुफ़िया एजेंसियों ने जांच की तो इसका पासपोर्ट फर्जी पाया गया। जिसके बाद इसे तुरन्त गिरफ्तार कर जेल भेज दिया और जांच शुरू कर दी। वहीं, सादिक ने अपने बयान में खुद की बचाने की सफाई पेश की है। ये भी पढ़ें: जम्‍मू में ट्रंप इफेक्‍ट, रोहिंग्या और बांग्‍लादेश मुसलमानों से शहर छोड़ने को कहा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
mathura a myanmar citizen arrest for forged passport in uttar pradesh.
Please Wait while comments are loading...