यूपी चुनाव रिजल्‍ट के बाद माफिया डॉन मुन्‍ना बजरंगी को आया हार्ट अटैक

डॉक्‍टरों ने कहा कि मुन्‍ना बजरंगी का ब्‍लड प्रेशर काफी बढ़ा हुआ है। स्थिति सामान्य होने के बाद बजरंगी को वापस जेल में दाखिल करा दिया गया।

Subscribe to Oneindia Hindi

मिर्जापुर। इस बार विधानसभा चुनाव में पूर्वांचल के कई माफिया व बाहुबलियों ने भागीदारी की थी। भाजपा की लहर में अधिकांश को पराजय का सामना करना पड़ा। परिणाम आने के बाद एक तरफ राजनैतिक दलों में घमासान मचा है तो दूसरी तरफ इसके साइड इफेक्ट भी दिखने लगे हैं। झांसी जेल में बंद प्रेम प्रकाश उर्फ मुन्ना बजरंगी की तबियत बुधवार की रात अचानक बिगड़ गयी। आनन-फानन में झांसी मेडिकल कालेज में बजरंगी को पहुंचाया गया जहां डाक्टरों ने जांच के बाद हार्ट अटैक की बात कही।

जानिए यूपी चुनाव के परिणाम के बाद माफिया डॉन मुन्‍ना बजरंगी को क्‍यों आया हार्ट अटैक

डॉक्‍टरों ने कहा कि मुन्‍ना बजरंगी का ब्‍लड प्रेशर काफी बढ़ा हुआ है। स्थिति सामान्य होने के बाद बजरंगी को वापस जेल में दाखिल करा दिया गया। आपको बता दें कि बजरंगी की पत्नी सीमा मडियाहूं से चुनाव लड़ रही थीं लेकिन वो चौथे स्थान पर रहीं। चर्चा यह है कि सूबे में बदलते हालात और पत्नी की पराजय के चलते बजरंगी का ब्लड प्रेशर बढ़ने लगा है।जरूर पढ़ें- तय हो गया यूपी के CM का नाम, जानिए किसके नाम पर लगी मुहर!

लगातार दूसरी बार मुन्ना बजरंगी को मिली है पराजय

मडियाहूं सीट से पिछली बार मुन्ना बजरंगी ने खुद चुनाव लड़ा था लेकिन करारी पराजय का सामना करना पड़ा। पांच साल तक इस क्षेत्र में पत्नी सीमा सिंह को बजरंगी ने सक्रिय रखा। विधानसभा चुनाव के पहले से विभिन्न राजनैतिक दलों से टिकट के लिए खासे प्रयास किये लेकिन कहीं से सफलता नहीं मिली। अंतिम समय में अपना दल (कृष्णा गुट) के प्रत्याशी के रूप में सीमा मैदान में उतरीं लेकिन चुनाव चिन्ह बताने में ही पूरा समय निकल गया।

बजरंगी के समर्थक जीत का दावा कर रहे थे और चुनाव में खासा खर्च भी हुआ था। परिणाम आने के बाद सभी को सांप सूंघ गया। भितरघात करने वालों की सूची तैयार हो रही है लेकिन अंतर इतना अधिक है कि कोई कुछ कह नहीं पा रहा। जरूर पढ़ें-मोदी के आते ही संसद में गूंजा- हिंदुस्तान का शेर आया

अलका राय का बढ़ता कद भी परेशानी का सबब

इस चुनाव में एक तरफ बजरंगी की पत्नी को करारी हार का सामना करना पड़ा तो मोहम्मदाबाद से विरोधी अलका राय को बड़ी जीत मिली है। अलका के पति कृष्णानंद राय विधायक थे, जिन्हें डेढ़ दशक पहले गोलियों से छलनी कर दिया गया था।

इस मामले में मुन्ना बजरंगी समेत छह अन्य समर्थकों के खिलाफ मामला सीबीआई कोर्ट में चल रहा है। पिछसे दस साल से अलका को सूबे की सरकारों से शिकायत थी लेकिन इस बार जो सरकार आयी है उसका वह खुद अंग हैं। फिलहाल केन्द्र और प्रदेश की सरकार के निशाने पर बजरंगी के संग उनके गॉड फादर मुख्तार अंसारी हैं। इसी को लेकर बजरंगी कुछ दिनों से खासा परेशान है जिसका नमूना बुधवार की रात देखने को मिला।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mafia don Munna Bajrangi heart attack in Jhasi jail.
Please Wait while comments are loading...