मिर्जापुर: प्यार का हुआ ऐसा खतरनाक अंजाम, ट्रेन के आगे कूदे छात्र-छात्रा

Subscribe to Oneindia Hindi

मिर्जापुर उत्तर प्रदेश स्थित मिर्जापुर जिले में चुनार कोतवाली के सुंदरपुर गांव के सामने हावड़ा- दिल्ली मुख्य रेल लाइन पर रविवार की सुबह प्रेमी छात्र-छात्रा का शव मिला। युवक आईटीआई का छात्र किशोरी हाईस्कूल की छात्रा थी। दोनों शनिवार (21 जनवरी) की सुबह दस बजे से घर से गायब थे। सुबह ग्रामीणों ने शव देखकर पुलिस को सूचना दी। मौत का रहस्‍य से पर्दा नहीं उठ सका है कि आखिर उनकी मौत कैसे हुयी। दोनों ने आत्म हत्या किया या शव को रेलवे ट्रैक पर फेंका गया। पुलिस का कहना है कि शव का पोस्टमार्टम होने के बाद ही क्लीयर होगा कि मौत कैसे हुयी।

मिर्जापुर में रेलवे ट्रैक पर मिला प्रेमी छात्र-छात्रा का शव, मौत बनी रहस्य

आधार कार्ड से हुयी पहचान

शवों के पास से मिले एक पॉकेट पर्स से मिले आधारकार्ड से युवक की शिनाख्त विवेक सिंह 20 पुत्र महेश सिंह निवासी कोलना थाना अदलहाट के रूप में हुई। पुलिस की सूचना पर पहुंचे युवक के परिजनों ने उसकी शिनाख्त की। उन्हीं लोगों ने छात्रा को भी स्तुति सिंह 17 पुत्री ब्रह्मानंद सिंह निवासी हिनौती माफ़ी थाना अदलहाट के रूप में पहचाना। बताया कि किशोरी कक्षा दसवीं की छात्रा है। युवक भी पहले छात्रा के ही स्कूल का छात्र था। दोनों के गांवों की दूरी मात्र दो किमी है। दोनों के बीच अच्छी दोस्ती भी थी। छात्र और छात्रा के परिजन भी दोनों की मौत को लेकर स्तब्ध हैं।

डाउन महानंदा एक्सप्रेस के आगे कूदे थे दोनों

छात्र और छात्रा ने डाउन महानंदा एक्सप्रेस के सामने रात में 10.40 बजे कूदकर आत्महत्या की थे। ट्रेन के चालक ने कैलहट रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर स्टेशन अधीक्षक को इसकी सूचना दी थी। इसके बाद वहां से आगे बढ़ा था। बावजूद इसके रेलवे स्टेशन पर तैनात कर्मचारियों ने मामले का पुलिस तक नहीं पहुंचाया। यदि रेलवे स्टेशन के लोगों ने भी सक्रियता दिखाया होता तो हो सकता है कि उस समय तक दोनों घायल रहे हों और समय से उपचार मिलने पर उनकी जान बच जाती।

मिर्जापुर में रेलवे ट्रैक पर मिला प्रेमी छात्र-छात्रा का शव, मौत बनी रहस्य

छात्रा नौ बजे निकली तो छात्र दस बजे घर से गायब हुआ

छात्रा शनिवार की सुबह नौ बजे घर से निकली थी। यह कहकर गई थी कि वह अदलहाट में कोचिंग करने जा रही है। वहीं से वह अपने कोलना स्थित सरदार पटेल इंटर कालेज में पढने चली जाएगी। लेकिन छात्रा न तो कोचिंग पहुंची और ना ही कालेज ही गई। छात्र पुआल काटने के लिए चारा मशीन लगवाकर मजदूरों को सहेजकर दस बजे घर से कालेज जाने की बात कहकर निकला। वह नैनागढ़ आईटीआई कालेज में प्रथम वर्ष का छात्र था। पूरे दिन और पूरी रात छात्र-छात्रा घर लौटकर नहीं आए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Lovers commit suicide in mirzapur, uttar pradesh
Please Wait while comments are loading...