मुरादाबाद: पेड़ की जड़ से निकले भोले बाबा, तीन दिन में हुए तीन गुना, एक महिला का ख्वाब हुआ हकीकत!

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुरादाबाद। विज्ञान और आस्था को लेकर बहस वर्षों से होती रही है लेकिन आज भी दोनों के बीच समानता और असमानता को लेकर बहस जारी है। ताजा मामला मुरादाबाद के कटघर थाना क्षेत्र का है जहां एक पेड़ की जड़ में शिवलिंग निकलने की जानकारी होने के बाद लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।

Read more: सहारनपुर: लिव इन रिलेशन में जब उठी शादी की बात, मेल कांस्टेबल की कर दी गई हत्या

मुरादाबाद: पेड़ की जड़ से निकले भोले बाबा, तीन दिन में हुए तीन गुना, एक महिला का ख्वाब हुआ हकीकत!

भगवान शिव के साक्षात् रूप का अवतार मानकर लोग शिवलिंग के दर्शन करने पहुंच रहे हैं। पेड़ की जड़ पर विराजमान शिवलिंग के दर्शन कर भगवान का आशीर्वाद लेने पहुंचे लोग इसे भक्ति की शक्ति मान रहे हैं। धूपबत्ती की महक और घंटियों की आवाज के बीच भगवान के जयकारे और पेड़ की जड़ पर चढ़ते चढ़ावे के बाद माहौल पूरी तरह भक्तिमय नजर आ रहा है।

भगवान पेड़ की जड़ से दर्शन देने लगे तो क्षेत्र में मेला भी लग गया। आस-पास के ग्रामीण इलाकों के साथ ही दूरदराज के क्षेत्रों से श्रद्धालु लगातार भगवान के दर्शन को पहुंच रहे हैं। भगवान शिव के जयकारों का उद्घोष, भक्ति में लीन होती महिलाएं और पुरुष सबका मानना है कि भगवान शिव स्वयं प्रकट हुए हैं। मामला मुरादाबाद के कटघर थाना क्षेत्र स्थित जैतिया फिरोजपुर गांव का है। दरअसल तीन दिन पहले गांव में पुराने मंदिर में पीपल का पेड़ था जिसका एक हिस्सा पेड़ से अलग हो गया। पेड़ पर खेल रहे दो बच्चों ने पेड़ की जड़ में स्थित शिवलिंग को देखा था। इसके बाद बच्चों ने गांव जाकर परिजनों को जानकारी दी तो ग्रामीण भी मौके पर पहुंचकर सच्चाई जानने लगे।

देखिए VIDEO...

गांव के ही बुजुर्ग राधेश्याम ने बताया कि जैसे ही हम मंदिर पर पहुंचे कि थोड़ी ही देर में पड़ोस के गांव मिलक बढ़ापुर से एक दंपत्ति आए और उन्होंने बताया कि रात को सपने में भोलेनाथ आए थे और उन्होंने ही बताया कि कल पीपल के पेड़ की जड़ में प्रकट होउंगा। इसीलिए सत्यता जानने के लिए चले आए थे। पेड़ की जड़ में शिवलिंग होने की जानकारी होते ही पूरे गांव में उत्सव का माहौल बन गया। देखते ही देखते पेड़ की जड़ के पास मेला लग गया लोग इसे भगवान शिव का साक्षात् अवतार मानते हुए पूजा-पाठ में जुट गए। पिछले तीन दिनों से पेड़ के पास दिन-रात लोगों की भीड़ जमा है दिन रात दूर-दूर से आए श्रद्धालु पूजा-पाठ में जुटे हैं। हर कोई भगवान की पूजा कर आशीर्वाद लेने के लिए लाइनों में लगकर अपने नंबर का इंतजार कर रहा है।

मंदिर के पुजारी उमेश का कहना था कि पहले दिन शिवलिंग का आकार बहुत छोटा था लेकिन तीन दिन से इसका आकार बढ़ता जा रहा है। ग्रामीण अंकित की बात पर यकीन किया जाए तो तीन दिन पहले ही अचानक पेड़ जड़ के पास से फट गया था। जिसके बाद पेड़ की जड़ से शिवलिंग के दर्शन होने लगे। ग्रामीण अचानक पेड़ के फटने की वजह को भी चमत्कार मान रहे हैं। आस्था और भक्ति के लिए तर्कों का कोई पैमाना नहीं होता। पेड़ की जड़ में शिवलिंग निकलने के बाद लोगों की आस्था उमड़ी तो क्षेत्र में कारोबारियों के बाजार भी सज गए हैं। पूरा गांव भक्तिमय होकर भगवान के जयकारों से गूंज रहा है। शिवलिंग निकलने के बाद लोगों का मानना है कि भगवान ने दर्शन देने के लिए ही पेड़ की जड़ से दर्शन दिए हैं। बहरहाल इस घटना के बाद आस्था और भक्ति के माहौल में रंगे गांव में इस समय किसी उत्सव जैसा नजारा है।

Read more: योगीराज: शिया वक्फ बोर्ड के प्रेसीडेंट का जेल जाना तय, HC ने दी सहमति

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Lord Shiv exist from the root of the tree, get three times in three days in Moradabad
Please Wait while comments are loading...