एक परिवार के मोदी-मुलायम, कोटेदार की कृपा से अखिलेश-डिंपल भाई-बहन!

Subscribe to Oneindia Hindi

शाहजहांपुर। एक ऐसा राशनकार्ड सामने आया है जिसमें बड़े-बड़े राजनेताओं के नाम लिख दिए गए। इस राशनकार्ड के धारक प्रेम शंकर को जब पता चला तो उसने सोचा कि ये किसी ने गलती से राशनकार्ड पर लिख दिया होगा लेकिन सच्चाई तब सामने आई जब प्रेम शंकर ने अपने राशनकार्ड के बारे में आनलाइन जानकरी हासिल की, उसमे उसकी दो बेटियों के नाम सोनिया और मेनका लिखा हुआ था तो वहीं बाकी सदस्यों का परिचय नरेंद्र मोदी, अमित शाह, अखिलेश, मुलायम, डिंपल, राहुल नाम से दर्ज थे।

Read more: आपके खाने का बढ़ जाएगा जायका, हरी मिर्च दिखाएगी नया कमाल

एक परिवार के मोदी-मुलायम, कोटेदार की कृपा से अखिलेश-डिंपल भाई-बहन!

इसके बाद प्रेम शंकर ने इस मामले की शिकायत जिला प्रशासन से की तो एडीएम ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सिस्टम के साथ भद्दा मजाक बताया। उनका कहना है कि इस मामल की जांच कराकर जो भी दोषी होगा उस पद कार्रवाई की जाएगी। दरअसल मामला कलान तहसील के मिर्जापुर के कबरा सलेमपुर गांव का है। जहां प्रेम शंकर अपनी पत्नी रानी देवी और दो बेटियों जिनमें तीन साल की दिवयांशी और तीन महीने की प्रियांषी के साथ रहते है।

एक परिवार के मोदी-मुलायम, कोटेदार की कृपा से अखिलेश-डिंपल भाई-बहन!

प्रेम की भाभी विमला देवी कबरा सलेमपुर गांव की प्रधान हैं और उनकी प्रधानी का काम भी प्रेम शंकर देखते हैं। प्रेम शंकर की पारिवारिक स्थित भी आर्थिक तौर से काफी मजबूत है। बावजूद उनका एक फर्जी राशन कार्ड बीपीएल कोटे से बनवाया गया। हैरत की बात है कि बीपीएल राशनकार्ड पर कोटेदार ने राजनेताओं के नाम चढ़वा दिए। यहां तक कि नरेंद्र मोदी से लेकर मुलायम सिंह यादव, अखिलेश, डिंपल तक के नाम इस राशन कार्ड में लिखे गए हैं।

एक परिवार के मोदी-मुलायम, कोटेदार की कृपा से अखिलेश-डिंपल भाई-बहन!

इसके बाद जब प्रेम शंकर को इस बात की जानकारी हुई तो उसने कोटेदार से अपना राशनकार्ड मांगा और उसके बाद राशनकार्ड पर लिखे नंबर पर जब उसने आनलाइन चेक किया तो उनका कार्ड बीपीएल में दर्ज था। इसके बाद प्रेम शंकर ने मामले की शिकायत एसडीएम से की। प्रेम शंकर ने बताया कि वो अपने परिवार के साथ कबरा सलेमपुर गांव में रहते हैं, उसके साथ उसकी पत्नी और दो बेटियां रहती हैं। राशन यूनिट की बात करें तो उसके राशनकार्ड पर चार युनिट लिखे हुए हैं। प्रेम शंकर की माने तो उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी है क्योंकि उसके पास काफी ज्यादा खेती है। पक्का मकान बना है, ट्रैक्टर भी है। इसलिए उसे बीपीएल राशनकार्ड की कोई आवश्यकता नहीं है। लेकिन इस गांव के कोटेदार ने उसका फर्जी बीपीएल कार्ड बनवा दिया।

 

एक परिवार के मोदी-मुलायम, कोटेदार की कृपा से अखिलेश-डिंपल भाई-बहन!

खास बात ये है कि उस राशनकार्ड पर उसका, उसकी पत्नी और दो बेटियों के नाम तो हैं ही साथ ही देश के वीआईपी नेताओं ने भी नाम चढ़वा दिए। प्रेम शंकर की माने तो इसके बारे में उसे नहीं पता था। एक दिन राशन लेने को लेकर गांव के एक युवक का कोटेदार से कुछ विवाद हो गया और वो अपना राशन कार्ड मांग रहा था लेकिन कोटेदार उसका राशनकार्ड दे नहीं रहा था। जब उसने आनलाइन अपने राशनकार्ड के बारे में जानकारी हासिल की तो उसे प्रेम शंकर का नाम दिखा और साथ ही उसने उस पर सभी राजनेताओं के नाम लिखे देखा।

सूत्रों की माने तो कबरा सलेमपुर गांव के कोटेदार जबर सिंह ने राशनकार्ड बनाने के मामले मे बड़ा घोटाला किया है। जानकारी के मुताबिक इस गांव में 278 राशन कार्ड धारक हैं। इन राशन कार्ड धारकों में करीब 121 राशन कार्ड फर्जी बने हुए बताए जा रहे हैं। फर्जी राशन कार्ड पर जो गांव के नाम लिखे हैं वो जलालाबाद थाना क्षेत्र में आते हैं। अगर इस मामले की जांच निष्पक्ष की जाए तो एक बड़ा घोटाला सामने आ सकता है।

शाहजहांपुर में राशन कार्ड के आवेदन के बाद होने वाली जांच पर भी कई बार उंगलियां उठ चुकी हैं। राशन कार्ड धारकों का आरोप है कि जांचकर्ता मौके पर ना जाकर घर बैठे ही मनमर्जी रिपोर्ट लगा देते हैं। ऐसे कई मामले हैं जिसमें जांचकर्ता की लापरवाही के चलते पात्र व्यक्ति की जगह अपात्र लोगों को राशन कार्ड जारी हो गए।

Read more: सहारनपुर: पति ने बोल दिया कि बेस्वाद बनाया है खाना तो पत्नी ने कर दी हत्या

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
kotedar made Rastion Card by name of big politician in Shahjahanpur
Please Wait while comments are loading...