कैराना के चर्चित गुड्डी गैंगरेप और मर्डर केस के मुख्य गवाह का मर्डर

अप्रैल में हुआ था गुड्डी का गैंगरेप और मर्डर। इसके मुख्य गवाह को सोते समय गोली मार दी।

Subscribe to Oneindia Hindi

कैराना शामली जिले के अकबरपुर सुनहैटी में चर्चित गुड्डी गैंगरेप और हत्याकांड के मुख्य गवाह की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। अप्रैल में 35 साल की महिला गुड्डी का अपहरण, गैंगरेप और मर्डर हुआ था। इस घटना पर काफी बवाल हुआ और भाजपा सांसद हुकुम सिंह ने इस मामले के बाद कैराना से हिंदुओं के पलायन का मुद्दा उठाया था।

Read Also: कैराना मुद्दे पर भाजपा फिर से कसेगी कमर, नई योजना के तहत होगा काम

kairana gang rape murder

गुड्डी के जेठ थे मुख्य गवाह ब्रह्मपाल सिंह

पुलिस के अनुसार, अकबरपुर सुनहैटी में इस चर्चित कांड के गवाह ब्रह्मपाल सिंह, गुड्डी के जेठ थे। 55 साल के ब्रह्मपाल गहरी नींद में थे जब उनकी रात में 1.30 से 2.00 बजे के बीच गोली मारकर हत्या कर दी गई।

ब्रह्मपाल के भाई रमेश ने इस मामले में छह लोगों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। इनके नाम हैं - मुस्तफा, अमजद, सफदर, मौलाना महशर, सुफियां और परवेज। ये सभी अकबरपुर सुनहैटी गांव के ही हैं और गुड्डी हत्याकांड के दो आरोपी कुर्बान और मोहसिन के रिश्तेदार बताए जाते हैं। इन छह आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने मर्डर का केस दर्ज कर लिया है।

रमेश ने पुलिस से कहा है कि उसने आरोपियों को भाई के कत्ल के बाद भागते हुए देखा है। रमेश का यह भी कहना है कि आरोपियों के परिवार की तरफ से केस वापस लेने का दबाव भी डाला जा रहा है। पुलिस इस मामले की जांच में लगी है।

4 अप्रैल की रात में गुड्डी का अपहरण, गैंगरेप और मर्डर

4 अप्रैल को गुड्डी का कैराना से अपहरण हुआ था और तीन दिन बाद उसकी लाश मिली थी। इस हत्याकांड के दो आरोपी मोहसिन और कुर्बान जेल में है। पुलिस ने गुड्डी के रिश्तेदार अंकुश और रामेंद्र को भी इस मामले में आरोपी बनाया था। अंकुश और रामेंद्र फरार हैं।

bjp mp hukum singh

गुड्डी गैंगरेप और हत्याकांड के बाद कैराना सुर्खियों में आ गया था। सांसद हुकुम सिंह ने दावा किया था कि एक खास समुदाय के अपराधी किस्म के लोगों से बचने के लिए बड़े पैमाने पर हिंदू समुतदाय के लोग कैराना से पलायन कर रहे हैं।

गांव में पीएसी की तैनाती के बावजूद हत्या, हुकुम सिंह ने बताया शर्मनाक

अकबरपुर सुनहैटी में गुड्डी मर्डर के बाद पलायन और दो समुदायों में तनाव की वजह से पीएसी की तैनाती की गई। उनकी मौजूदगी में ब्रह्मपाल की हत्या हुई। भाजपा सांसद हुकुम सिंह ने इस घटना को शर्मनाक को कहा है।

Read Also: मानवाधिकार आयोग की रिपोर्ट में सामने आया सच, क्यों छोड़ा हिंदू परिवारों ने कैराना

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Key witness of Kairana gang rape and murder case has been shot dead in his village when he was in deep sleep.
Please Wait while comments are loading...