पहली गोली बेटी के कंधे पर दूसरी पैर में लगी, तीसरी गोली पिता ने खुद को मार ली

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

सहारनपुर। केंद्र और यूपी सरकार भले ही किसानों की समस्याओं को दूर करने के तमाम दावे करते हों लेकिन यह भी दावे उस समय विफल होते नजर आते हैं जब कोई किसान आत्महत्या का रास्ता चुनते नजर आता है। ताजा मामला सहारनपुर के बेहट का जहां एक किसान नेपत्नी की मौत और आर्थिक तंगी के चलते मौत को गले लगाने का प्रयास किया। पिता को आत्महत्या करने से रोकने के लिए उसकी बेटी जान पर खेल गई। इस घटना में गोली लगने से किसान और उसकी बेटी गंभीर रुप से घायल हो गए हैं जिनका चंडीगढ़ में इलाज चल रहा है।

चार साल पहले हुई पत्नी की मौत

चार साल पहले हुई पत्नी की मौत

मिला जानकारी के मुताबिक बेहट के गांव बाबैल बुजुर्गके रहने वाले 45 वर्षीय जंगशेर उर्फ पप्पू की पत्नी रीना की चार साल पहले बीमारी से मौत हो गई थी। उसके इलाज में अधिक खर्च होने पर उस पर काफी कर्ज हो गया था। फसल भी इतनी नहीं हो रही थी कि वह अपना कर्ज उतार सके। पत्नी की मौत और कर्ज से जंगशेर तनाव में आ गया। उसने कर्ज चुकाने के लिए अपनी जमीन भी बेच दी थी जिससे वो काफी परेशान रहता था।

बेटी को लगी पहली गोली

बेटी को लगी पहली गोली

आज दोपहर करीब एक बजे जंगशेर गांव अपने घर पहुंचा। घर में उसकी 22 वर्षीय बेटी रजनी थी। पड़ोसियों ने बताया कि जंगशेर ने तमंचा उठाया और उसमें कारतूस भरने लगा। रीना की नजर जंगशेर पर पड़ी तो वह दौड़ते हुए अपने पिता के पास पहुंची और तमंचा छीनने लगी। रीना समझ गई थी कि उसके पिता कुछ गलत करने वाले हैं इसलिए वह अपने पिता के हाथ से तमंचा छीनने लगी। इसी छीना झपटी में तमंचे से गोली चल गई, जो रजनी की बाजू पर जा लगी। इसके बाद जंगशेर ने दूसरा कारतूस तमंचे में भरा, लेकिन रजनी ने हिम्मत नहीं हारी और उसने तमंचा फिर से पकड़कर छीनने का प्रयास किया।

तीसरी गोली पिता ने खुद को मार ली

तीसरी गोली पिता ने खुद को मार ली

इस बार की छीना झपटी में चली गोली रजनी की टांग में जा लगी और वह लहूलुहान होकर जमीन पर गिर गई। बेटी के बेबस होने पर जंगशेर ने तीसरा कारतूस तमंचे में भरकर खुद को गोली मार ली। दोनों करीब एक घंटे तक लहूलुहान हालत में पड़े तड़फते रहे। दोपहर दो बजे जंगशेर का पुत्र हनी घर पहुंचा तो बहन और पिता को देखकर उसके होश उड़ गए। हनी के शोर मचाने पर पड़ोसी मौके पर पहुंचे। दोनों को गंभीर हालत में जिला अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया गया। हालत गंभीर देखते हुए चिकित्सकों ने दोनों हायर सेंटर रेफर कर दिया है। बताया जाता है कि दोनों की चंडीगढ़ में हालत स्थिर है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
in saharanpur a daughter injured while stoppping his father to suicide
Please Wait while comments are loading...