दोस्त की प्रेमिका को पाने के लिए नाबालिग ने उसे बेरहमी से मार डाला

Subscribe to Oneindia Hindi

मिर्जापुर। कटरा कोतवाली क्षेत्र के पालीटेक्निक परिसर में चाकू से 70 से अधिक वार कर हाईस्कूल के छात्र अभिषेक की सनसनीखेज हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया। अभिषेक के गांव का ही उसका मित्र उसकी प्रेमिका को पाने के लिए अपने मौसेरे भाई के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी थी। पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने क्राइम ब्रांच प्रभारी विजय प्रताप सिंह और कटरा कोतवाल अजय श्रीवास्तव की संयुक्त टीम बनायी। दोनों मौसेरे भाईयों को क्राइम ब्रांच और कटरा कोतवाली की संयुक्त टीम ने कटरा कोतवाली क्षेत्र के जंगीरोड के पास से गिरफ्तार कर लिया।गिरफ़तार दोनों नाबालिक है। इसमे एक कक्षा 11 और दूसरो कक्षा आठ का छात्र है।

दोस्त की प्रेमिका को पाने के लिए नाबालिग ने उसे बेरहमी से मार डाला

70 चाकू मारकर की गयी थी हत्या

विंध्याचल थाना क्षेत्र के अतरैला निवासी संतोष कुमार मौर्या का 16 वर्षीय पुत्र अभिषेक मौर्या हाईस्कूल का छात्र था। वह नगर के गुरुनानक इंटर कालेज में हाईस्कूल का छात्र था। दो माह से वह कटरा कोतवाली क्षेत्र के टंडनपुरी कालोनी में एक आईटीआई के टीचर के साथ किराये के मकान में रहता था। वह रविवार की शाम सात बज के बाद गायब था। सोमवार की सुबह उसका शव पालीटेक्निक परिसर में आईटीआई के पुराने हास्टल के पास झाड़ियों में मिला। मामले में आईटीआई के फैजाााद निवासी टीचर को हिरासत में लेकर पूछताछ किया। तो टीचर ने बताया कि अभिषेक किसी लड़की से बात करता था और मिलने भी जाता था।

सर्विलांस की मदद से पकड़े गये
इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा करने में सर्विलांस की महत्पवूर्ण भूमिका रही। ऐसे तो पहला शक आईटीआई टीचर पर था। पर जब क्राइम ब्रांच ने सर्विलांस की मदद से छानबीन की तो परत दर परत पूरी कहानी खुलती गयी। क्राइम रांच ने सर्विलांस की मदद से पहले मृतक के मोबाइल की सीडीआर निकली। सीडीआर से प्राप्त नंबरों के जरिये पुलिस ने छानबीन की। इसके बाद पुलिस ने मृतक अभिषेक के गांव निवासी एक मित्र व उसके मौसेरे भाई को हिरासत में लिया।

लड़की से मिलने के बहाने बुलाया था
अभिषेक के गांव का ही 11 का छात्र उसका मित्र है। जो नगर के लोहंदी कला में किराये के मकान में रहता है। अभिषेक अपनी प्रेमिका को उसके कमरे पर मिलने के लिए बुलाता था। उसका मित्र अभिषेक की प्रेमिका को अपना बनाना चाहता था। इसके लिए उसने अभिषेक को रास्ते से हटाने की ठानी। उसने शनिवार की देर शाम सात बजे के बाद अभिषेक को एक लड़की से मिलवाने के बहाने पालीटेक्निक परिसर में आईटीआई के पूराने हास्टल के पास खंडहर में बुलाया। वहां पर उसने अपने मौसेरे भाई के साथ मिलकर चाकू से गोदकर उसकी हत्या कर दी। बताया कि जिस लड़की से वह प्रेम करता था, अभिषेक उससे बात करता था और मिलता था इसलिए उसकी हत्या की।

दूसरा रुप देने के लिए अभिषेक के चाचा को दी थी धमकी

गिरफ्तार दोनों नाबालिक मौसेरे भाई इतने शातिर थे कि हत्या करने के बाद घटना को दूसरा रूप देने के लिए मंगलवार को अभिषेक के चाचा जितेंद्र मौर्या को फोन कर धमकी दिया और कहा कि रुपया दो नहीं तो उसे भी जान से मार देंगे। सर्विलांस की मदद से क्राइम ब्रांच ने धमकी वाले नंबर को ट्रेस कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A minor murdered his friend for his girlfriend in Mirzapur.
Please Wait while comments are loading...