इलाहाबाद: केशव मौर्य ने छीनी सोरांव की उम्मीदवारी तो सुरेंद्र हुए बागी

केशव मौर्य ने यह भी स्पष्ट किया कि अब सोरांव विधानसभा सीट से गठबंधन का प्रत्याशी ही चुनाव लड़ेगा। यहां अब फ्रेंडली फाइट नहीं होगी।

Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। इलाहाबाद की सोरांव विधानसभा सीट पर राजनैतिक ड्रामा लगातार जारी है। शनिवार को भाजपा-अद प्रत्याशी के बीच बवाल और मुकदमेबाजी के बाद भाजपा का शीर्ष नेतृत्व नाराज है। निशाने पर आये केशव मौर्य ने खुद को घिरते देख और पार्टी को छीछालेदर से बचाने के लिये फिर से एक तीर छोड़ा है। केशव मौर्य ने सोरांव विधानसभा से सुरेंद्र चौधरी से पार्टी की उम्मीदवारी वापस ले ली है। अब वह भाजपा के प्रत्याशी होते हुये भी प्रत्याशी नहीं हैं।

Read Also: इलाहाबाद: सोरांव सीट पर भाजपा-अद प्रत्याशी भिड़े, फायरिंग, पथराव

इलाहाबाद: केशव मौर्या ने छीनी सोरांव की उम्मीदवारी तो सुरेंद्र हुए बागी

सोरांव से अपना दल
केशव मौर्य ने यह भी स्पष्ट किया कि अब सोरांव विधानसभा सीट से गठबंधन का प्रत्याशी ही चुनाव लड़ेगा। यहां अब फ्रेंडली फाइट नहीं होगी। अपना दल को गठबंधन में मिली इस सीट पर घोषित प्रत्याशी जमुना सरोज ही चुना लड़ेंगे। इस घोषणा के साथ एक बार फिर सोरांव विधानसभा सीट बड़े ही नाटकीय ढंग से अपना दल के खाते में चली गई है।

केशव पर भी संकट
भाजपा अद गठबंधन में अपना दल को गई सीट पर केशव मौर्य का अपने नजदीकी सुरेन्द्र चौधरी को टिकट देना अब गले की फांस बनता जा रहा है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष से राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने जवाब तलब किया है । जिससे अब केशव पर भी संकट है। हालाँकि हमेशा की तरह छोटों पर गाज गिरती है बड़े साफ निकल जाते हैं वाली कहानी यहां
भी बढेगी ।

रातभर हुई मैराथन बैठक
इलाहाबाद में शनिवार की रात भाजपा संगठन के लिये बहुत काली रही। जिला संगठन के साथ आधी रात तक मैराथन बैठक का क्रम जारी रहा। केशव मौर्य ने जिलाध्यक्ष अमरनाथ यादव व पदाधिकारियों के के साथ चली मैराथन बैठक में दूर की गोट खेलने का निर्णय लिया । इससे अपना दल की नाराजगी भी दूर हो सकती है साथ ही पार्टी को नफा के चांस अधिक है। सुरेन्द्र चौधरी से उम्मीदवारी वापस लेने से अब सोरांव में गठबंधन प्रत्याशी जमुना प्रसाद सरोज मजबूती के साथ चुनाव लड़ सकेंगे ।

मैदान छोड़ने को तैयार नहीं सुरेंद्र, बुलाया कार्यकर्ता सम्मेलन
बीजेपी यूपी चीफ केशव मौर्य के यह ऐलान के बाद कि सोरांव से सुरेंद्र चौधरी की उम्मीदवारी वापस ले ली गई है । सुरेन्द्र मैदान छोड़ने के लिए तैयार नहीं हैं। सुरेन्द्र ने चुनाव लड़ने का एलान करते हुये भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन बुलाया है। आज ही सोरांव में भाजपा कार्यकर्ता जुटेंगे, जिसके माध्यम से सुरेंद्र अपनी लोकप्रियता व दावेदारी को मजबूत कर ताकत दिखायेंगे । फिलहाल इस कार्यकर्ता सम्मेलन ने केशव मौर्य की मुश्किल जरूर बढा दी है। क्योंकि सम्मेलन बुलाने की तिथि की घोषणा पहले ही जारी हुई थी। जिसका सुरेन्द्र ने रिमाइंडर जारी करते हुये सम्मेलन बुलाया है।

Read Also: सपा MLA अरूण वर्मा पर गैंगरेप का आरोप लगानेवाली नाबालिग की मौत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Former BJP candidate of Soraon seat Surendra rebelled against party when he was sacked by state president Keshav Maurya.
Please Wait while comments are loading...