11 साल बाद बिटिया PMO से ले आई यूपी के गांव में बिजली, सबने किया सलाम

Subscribe to Oneindia Hindi

एटा। यूपी का एक गांव अपनी उस बिटिया को सलाम कर रहा है जिसकी कोशिशों की वजह से 11 साल बाद यहां बिजली लौटी। इस बिटिया ने बिजली न होने की शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में की जिसके बाद एटा क्षेत्र के इस दूर दराज गांव को बिजली नसीब हुई।

READ ALSO: रामदेव के करीबी बालकृष्ण की माया 25,600 करोड़ रुपए

electricity

2005 में गई बिजली अब जाकर लौटी

आगरा से लगभग 140 किलोमीटर दूर एटा इलाके का गांव है बिधिया, जिसका एक और नाम मधुबन भी है। यहां पहली बार बिजली 2005 के जनवरी महीने में आई थी और उसी साल जून में आए तूफान में पावर लाइन डैमेज हो जाने की वजह से गांव अंधेरे में डूब गया।

11 साल बाद अचानक इलेक्ट्रिक इंजीनियर्स और मजदूरों की भीड़ जब गांव में पहुंची तो लोग हैरान रह गए। दिन रात काम करके हाई टेंशन तारों को ठीक किया गया और उसके बाद गांव में मंगलवार को बिजली लौट आई। पता चला इस कमाल के पीछे गांव की ही एक बिटिया है।

गांव की बेटी दीप्ति ने की थी पीएमओ से शिकायत

बिधिया गांव की निवासी दीप्ति मिश्रा का बचपन बिना बिजली के गुजरा। जब वह बड़ी हुईं तो उन्होंने इस गांव में बिजली लाने का संकल्प लिया और कोशिशों में जुट गईं। फिलहाल नोएडा के एक हिंदी अखबार में कार्यरत दीप्ति ने गांव में बिजली न होने की शिकायत पीएमओ से की।

कुछ दिन पहले गांव में दीप्ति के किसान पिता शिवदास मिश्रा के पास जिला प्रशासन की तरफ से एक फोन आया जिसमें उनको सूचना दी गई कि उनकी बेटी की वजह से गांव में एक सप्ताह के अंदर बिजली आ जाएगी।

deepti mishra

दीप्ति ने इस बारे में कहा कि उन्होंने इसी साल मार्च में पीएमओ में ऑनलाइन शिकायत डाली थी। इस शिकायत में उन्होंने लिखा था कि किस तरह उनके गांव में 2005 में बिजली आई और तूफान की वजह से चली गई।

उसके बाद गांववालों ने कई बार शिकायत की लेकिन गांव की बिजली फिर ठीक नहीं हुई। इस तरफ किसी ने ध्यान नहीं दिया। यहां तक कि मुख्यमंत्री और जिलाधिकारी को लिखे पत्र का भी कोई असर नहीं हुआ।

पीएमओ ने लिया एक्शन, गांव में आई बिजली

दीप्ति की शिकायत पर पीएमओ ने एक्शन लिया जिसके बाद एटा के गांव बिधिया उर्फ मधुबन में मंगलवार को बिजली लौट आई है।

READ ALSO: जानें आपको वेलकम बोलते वक्त क्या सोचती है एयर होस्टेस

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After 2005 there was no electricity in Bidhiya village despite many complaints by villagers. But a daughter of village succeed in this effort.
Please Wait while comments are loading...