कानपुर में नकली नोट छापे जाने का भंडाफोड़, एक गिरफ्तार

Subscribe to Oneindia Hindi

कानपुर। बिठूर पुलिस ने ग्रामीण इलाके में जाली नोट छापने व सप्लाई करने का भंडाफोड़ किया है। घर में छापे जा रहे नकली नोटों के साथ पुलिस व स्वॉट टीम ने एक अभियुक्त को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए अभियुक्त के कब्जे से साढ़े छह लाख के जाली नोट बरामद किए हैं।

Read Also: चुनाव को हथियार बना अपने को बचाने में जुटे मौत के जिम्मेदार

कानपुर में नकली नोट छापे जाने का भंडाफोड़, एक गिरफ्तार

सीओ कल्याणपुर संजीव कुमार दीक्षित ने जाली नोट पकड़े जाने का खुलासा किया है। सीओ ने बताया कि नोट बंदी के बाद से ग्रामीण इलाकों में करेंसी की कमी का फायदा उठाने के लिए नकली नोट धड़ल्ले से आ रहे थे। लगातार शिकायत मिलने पर पुलिस टीम लगाई गई थी। जांच में सामने आया कि बिठूर इलाके में रहने वाला शख्स नकली नोट छापकर बाजार में चला रहा है। इसमें उसके कई साथी भी शामिल है।

सूचना के आधार पर स्वाट टीम निरीक्षक किशोर कुमार सिंह, राजदेव प्रजापति व बिठूर एसओ जीतेन्द्र प्रताप सिंह के नेतृत्व में टीम ने नकली नोट छापने वाले गिरोह की तलाश शुरू की। कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए पुलिस हींगूपुर ग्राम में रहने वाले नरेन्द्र कुमार निषाद का नाम नकली नोट के सरगना के रूप में सामने आया। पुलिस ने घेराबंदी कर घर पर छापेमारी की कार्रवाई करते हुए नकली नोटों की बड़ी खेप के साथ नरेन्द्र को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके साथ भगने में सफल रहे। पुलिस को मौके से नोट छापने में प्रयुक्त आने वाले दो प्रिंटर, कई स्कूलों की नई मोहरें व 55 अधिकारियों की मोहरें बरामद की गई है। मौके से 6.46 लाख के नकली नोट भी बरामद हुए हैं। इनमें दो हजार, पांच सौ व सौ-सौ के नोट शामिल हैं। सीओ ने बताया कि मुकदमा दर्ज करते हुए अभियुक्त को जेल भेजा जा रहा है।

बाजार में खपाये जा रहे थे नकली नोट
पकड़े गए अभियुक्त नरेन्द्र निषाद ने पुलिस को पूछतांछ में बताया कि नोट बंदी का फायदा उठाते हुए ग्रामीणों को नकली नोट फुटकर बाजार में चलाने के लिए दिए जा रहे थे। उनसे वह हजार व पांच सौ के पुराने नोट लेकर नकली नोट दे दिया गया करता था। यही नहीं नकली नोटों को इतनी सफाई से बनाया गया था कि वह खुद भी बाजार में खरीददारी करने उन्हें चला देता था। 

प्रिटिंग कार्य में हैं माहिर
सीओ कल्याणपुर संजीव कुमार दीक्षित के मुताबिक पकड़ा गया नरेन्द्र प्रिटिंग के कार्य से जुड़ा था। लम्बे समय तक प्रिटिंग के कार्य करने के चलते वह काफी सफाई से नोट छापने में माहिर है। पूछतांछ में उसके इस काम में कई अन्य लोगों के नाम सामने आए हैं। जिनकी तलाश में छापेमारी की जा रही है।

Read Also: जानिए कौन है कानपुर रेल हादसे में 150 मौतों का जिम्‍मेदार शमशुल हुदा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Duplicate note printing scam busted in Kanpur and one has been arrested by police.
Please Wait while comments are loading...