गैंगरेप पीड़िता को एक साल पुलिस ने रुलाया, अदालत ने पोछे आंसू

महिला का आरोप है कि तीन सगे भाइयों ने एक साल पहले उसके साथ गैंगरेप किया। इस मामले में केस दर्ज कराने गई तो उसे थाने से कई बार भगाया गया।

Subscribe to Oneindia Hindi

हरदोई। उत्तर प्रदेश में थाने से भगाई गयी जनपद हरदोई निवासी एक गैंगरेप पीड़िता को एक साल के बाद अदालत से न्याय मिला। तीन सगे भाइयों की हवस का शिकार हुई पीड़ित लगातार एक साल से पुलिस अधीक्षक और सम्बंधित थाने के चक्कर काट रही थी। गुरुवार को अदालत के आदेश के बाद गैंगरेप का केस दर्ज किया गया।

Read Also: चश्मदीद के बयान से जवाहर बाग कांड में नया मोड़,पुलिस पर सवाल

एक साल पहले हुआ गैंगरेप

एक साल पहले हुआ गैंगरेप

हरदोई जिले के मझिला थाना क्षेत्र के बरखेरा गाँव में एक साल पहले 2016 में 35 साल की मीनू के साथ तीन लोगों ने गैंगरेप किया था। आरोपी अमर प्रकाश, दिनेश और अकनेश तीनों सगे भाई हैं और गाँव बरखेरा के ही निवासी हैं। पीड़िता ने लगातार एक साल तक पुलिस की शरण में जाकर कर गुहार लगाई। थाने से लेकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय तक किसी के भी कानों में उसकी दर्द भरी आवाज की जूं न रेंगी।

पुलिस ने पीड़िता को थाने से भगाया

पुलिस ने पीड़िता को थाने से भगाया

इतना ही नहीं जब-जब पीड़िता अपना दर्द और आरोपियों की शिकायत लेकर थाने पहुँचती तो उसे भगा दिया जाता। यहाँ तक कि एसपी ने भी पीड़िता को फटकार लगाते हुए अदालत जाने की हिदायत दी थी। पीड़ता का कहना है कि एसपी ने कहा था कि यहाँ कुछ नहीं है अदालत जाओ।

देखिए इस मामले का वीडियो

इसके बाद पीड़िता ने हार न मानी और वो अदालत की शरण में जा पहुंची। इस गैंगरेप पीड़िता की गुहार अदालत ने सुन ही ली और आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गयी। मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक हरदोई अभी भी केस की गहनता से जांच करने की बात कर रहे हैं।

Read Also: योगी राज में कार्रवाई के डर से काम कर रहे अधिकारी, देखिए सबूत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Court directed police to register case of gang rape in Hardoi.
Please Wait while comments are loading...