3 इंजीनियरों को अपने ऑफिस में बुलाकर कमिश्नर ने कहा- गिरफ्तार कर लो इनको

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मेरठ विकास प्राधिकरण में करीब 1.5 करोड़ के वायर घोटाले में कमिश्नर ने अपने दफ्तर में बुलाकर तीन इंजीनियरों को गिरफ्तार करवा दिया। तीनों इंजीनियरों पर मेरठ में बन रहे साइकिल ट्रैक में लगाने के लिए खरीदे गए बिजली के रबर कोटेड वायर में बड़ा गोलमाल करने का आरोप है। पुलिस तीनों आरोपी इंजीनियरों को हिरासत में लेकर सिविल लाइन थाने लेकर आई।

3 इंजीनियरों को अपने ऑफिस में बुलाकर कमिश्नर ने कहा- गिरफ्तार कर लो इनको

बता दें कि करीब दो साल पहले डीएम कंपाउंड और साइकिल ट्रैक के लिए बिजली का कोटेड वायर अंडरग्राउंड डालने के लिए खरीदा गया था। करीब 1।5 करोड़ का वायर खरीद के बावजूद यहां ट्रैक और सड़क बनाने में इस्तेमाल नहीं किया गया। सड़क बना दी गई और वायर स्टोर में ही पड़ा रहा। बाद में कार्यभार बदल गए तो नए इंजीनियर ने कहा कि सड़क बनने के बाद पूर्व में खरीदे गए वायर को इस्तेमाल किया जाना व्यवहारिक नहीं है। इसके लिए सड़क दोबारा उखाड़नी होगी।

इस मामले में कमिश्नर डा. प्रभात कुमार ने एक्सईएन एपी सिंह, एई सच्चिदानन्द मिश्रा और जेई रविन्द्र सिंह को अपने दफ्तर बुलाकर सिविल लाइन पुलिस से गिरफ्तार करवा दिया। ऐसे खुली घोटाले की परतें सवाल उठा कि जब 1।5 करोड़ का तार खरीदा गया तो यह इस्तेमाल क्यों नहीं हुआ? अगर जरूरत नहीं थी तो फिर खरीद के पीछे मकसद क्या था? यह इस्तेमाल क्यों नहीं हुआ। इसी सवाल का जवाब तलाशा गया तो घोटाले की परतें खुलती चली गईं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
commissioner arrested 3 engineers by calling them in office in merrut
Please Wait while comments are loading...