यूपी विधानसभा चुनाव 2017: विवादित बयान देने पर भाजपा सांसद साक्षी महाराज के खिलाफ केस दर्ज

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मेरठ। भाजपा सांसद साक्षी महाराज पर विवादित बयानबाजी भारी पड़ गई है। उत्‍तर प्रदेश पुलिस ने मेरठ में साक्षी महाराज और अन्‍य के खिलाफ आईपीसी की धारा 298 के तहत के दर्ज कर लिया है। वहीं इस बावत चुनाव आयोग ने भी रिपोर्ट मांगी है। वहीं उत्‍तर प्रदेश के मेरठ में शुक्रवार को भाजपा सांसद के सांप्रदायिक बयान से भारतीय जनता पार्टी ने अपना पल्‍ला झाड़ लिया है। साक्षी महाराज के बयान पर उठे विवाद के बाद केंद्रीय मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने कहा है कि इस तरह के बयानों का भाजपा से कोई लेना-देना नहीं है। इस तरह के बयानों को पार्टी की सोच नहीं माना जाना चाहिए। वहीं कांग्रेस के नेता केसी मित्‍तल ने कहा कि भाजपा सांसद साक्षी महाराज का बयान धर्म और जाति पर आधरित बहुत ही विवादास्‍पद बयान है। यह सीधे तौर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की अवमानना है। उन्‍होंने कहा कि भाजपा सांसद के इस बयान पर चुनाव आयोग को कार्रवाई करनी चाहिए।

उत्‍तर प्रदेश पुलिस ने मेरठ में साक्षी महाराज और अन्‍य के खिलाफ आईपीसी की धारा 298 के तहत के दर्ज कर लिया
 

उत्‍तर प्रदेश के मेरठ में शनिधाम मंदिर में शुक्रवार को भाजपा सांसद साक्षी महाराज कहा ने कहा था कि आज में फिर कहना चाहता हूं कि हिंदू घटा तो देश बंटा। वहीं इस कार्यक्रम की फोटोग्रॉफी और वीडियोग्रॉफी करने पहुंचे पुलिस कर्मियों को संतों ने खदेड़ दिया था। साक्षी महाराज ने कहा कि जनसंख्या को लेकर देश में एक सख्त और बढ़िया कानून लाने की आवश्यकता है चाहे बच्चा एक हो या चार हों, सबके लिए समान कानून बनाने का समय आ गया है । उन्होंने कहा कि अगर जनसंख्या बढ़ती चली जा रही है तो इसका जिम्‍मेदार हिन्दू नहीं है। ये भी देखें: भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने फिर दिया विवादित बयान, कहा-हिन्दू घटा तो देश बंटा 

उन्‍होंने कहा था कि इसका जिम्‍मेदार साक्षी महाराज तो बिल्कुल नहीं है बल्कि इसके जिम्मेदार वो लोग हैं जिन्होंने चार बीवियां और चालीस बच्चे पैदा किए हैं । इसके आगे वो बोले थे कि अब चार बीवी और चालीस बच्चे का समय नहीं रहा है अब ये नहीं चलेगा । माताएं कोई मशीन नहीं है। तीन तलाक पर बोलते हुए कहा कि तीन तलाक को समाप्त करने का समय आ चुका है और पीएम मोदी इस बात को लेकर आगे बढ़ गए है और ये बहस छिड़ गई है कि तीन तलाक नहीं होने चाहिए , औरत मशीन नहीं है इसके लिए कानून बनना चाहिए । गौहत्या पर बोलते हुए साक्षी महाराज ने कहा कि गौहत्या और कत्‍ल खाने भी बंद होंगे क्योंकि अगर गौहत्या और कत्‍ल खाने होंगे तो मोदी जी का श्वेत क्रांति का सपना कैसे पूरा होगा। मीडिया से मुखातिब होते हुए महाराज ने कहा कि सपा में जो पारिवारिक कलह चल रही है वो सिर्फ कुर्सी की लड़ाई है और जो परिवार और पार्टी को को नही संभाल पाए प्रदेश को क्या संभालेंगे। साक्षी महाराज ने कहा कि राम मंदिर कभी भी बीजेपी का मुद्दा नहीं रहा बल्कि ये तो सन्त समाज और साधु महात्माओ का मुद्दा है और बीजेपी राम मंदिर के मुद्दे पर वोट मांगने वाली नहीं है । सुप्रीम कोर्ट ने भले ही चुनाव के दौरान वोट मांगने के दौरान जाति, भाषा और धर्म के प्रयोग को गैरकानूनी ठहरा दिया हो। पर नेता फिर भी सुप्रीम कोर्ट की बात नहीं मान रहे हैं। ये भी देखें: साक्षी महाराज के सांप्रदायिक बयान से बीजेपी ने झाड़ा पल्‍ला, कहा हमारा कोई लेना-देना नहीं

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Case registered in Meerut against Sakshi Maharaj over his controversial comment on population control, under section 298 of IPC among others
Please Wait while comments are loading...