बुलंशहर: "एमएलए बनने के लिए किसी को भी मरवा सकता था मनोज"

Subscribe to Oneindia Hindi

बुलंदशहर। राष्ट्रीय लोकदल के प्रत्याशी मनोज गौतम के भाई और दोस्त की हत्या का मुख्य आरोपी परविंदर को अलीगढ़ पुलिस ने जवां इलाके से तीन दिन पहले गिरफ्तार कर लिया था। परविंदर की मानें तो मनोज गौतम ने ही अपने भाई विनोद और उसके दोस्त की हत्या करवाई थी। वारदात के पीछे मनोज की विधायक बनने की महत्वाकांक्षा और भाई की हत्या के बदले वह जनता से हमदर्दी वोट पाना चाहता था। इसके लिए मनोज गौतम ने परविंदर को 2 लाख और एक मकान का ऑफर दिया था।

वोट के लिए मरवाया भाई को

वोट के लिए मरवाया भाई को

बुलंदशहर के खुर्जा विधानसभा में रालोद से चुनावी मैदान में उतरे मनोज गौतम ने अपने सगे भाई और उसके दोस्त की हत्या का ताना बाना सिर्फ इसलिए बुना ताकि लोगों की सहानुभूति मिल सके और वे एमएलए बन जायें। इसके लिए मनोज किसी हद तक भी जा सकता था। इस बात का खुलासा तक हुआ जब अलीगढ़ पुलिस ने परविंदर को रविवार को खुर्जा पुलिस को सौप दिया।

परविंदर को 2 लाख रु. और फ्लैट देने का वायदा किया

परविंदर को 2 लाख रु. और फ्लैट देने का वायदा किया

बता दें कि सोमवार को प्रेस वार्ता में परविंदर ने बताया कि मनोज गौतम किसी भी तरह एमएलए बनना चाहता था। इसके लिए मनोज ने सबसे पहले गुरूदीप उर्फ गुरूजी की हत्या करके मनोज लोगों की हमदर्दी लेना चाहता था। इस बात के लिए परविंदर ने मना कर दिया। पुलिस ने बताया कि जयंत चौधरी के कार्यक्रम से दो दिन पहले मनोज ने अपने भाई विनोद की हत्या करने की प्लांनिग की और परविंदर को 2 लाख और फ्लैट देने का वायदा किया। पुलिस ने बताया कि तीन दिन पहले परविंदर और विनोद के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी भी हुई थी। परविंदर ने मनोज की लाइसेंसी पिस्टल से विनोद और सचिन की हत्या कर दी और पिस्टल को लाकर मनोज को दे दी।

ये था पूरा मामला

ये था पूरा मामला

6 फरवरी को जयंत चौधरी की सभा के बाद विनोद और सचिन उनके काफिले को सीआफ करने के लिए गए थे। परविंदर की मानें तो सीआफ करने के बाद मनोज गौतम ने कहा विनोद को फोन करके अगवाल फाटक पर बुला लिया और मुझे अपनी लाइसेंसी पिस्टल देकर अगवाल फाटक पर भेज दिया। विनोद ने आते ही सबसे पहले पूछा कि विधायक जी कहां हैं। परविंदर ने बताया कि विधायक जी सामने अगवाल गांव वाले आम के बाद में शराब उतरवा रहे हैं और विनोद और सचिन को लेकर पैदल ही बाग में चला गया। जबकि परविंदर का दूसरा साथी फिरोज बाइक से आम के बाग में पहुंच गया।

दोनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

दोनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

परविंदर ने आगे बताया कि पहले उसने सचिन को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। फिर उसके बाद विनोद को मौत को गोली मारी।परविंदर ने बताया कि फिरोज वारदात स्थल से अपने गांव चल गया और परविंदर सीधा मनोज गौतम के पास कार्यालय पर पहुंच गया। कार्यालय पहुंचकर परविंदर ने पिस्टल मनोज गौतम को दे दी। मनोज गौतम और परविंदर दोनो नारायणपुर गांव में पहुंचे और मनोज ने सचिन और विनोद के मोबाइल फोन के बारे में पूछा। परविंदर ने बताया कि मनोज ने अनजान नंबर से फोन करके सिम तोड कर फिकवा दिया। कुछ देर बाद मैंने राहुल के मोबाइल से फिरोज को फोन करके कहा कि ‘चारों सिम निकालकर फेंक दो, काम हो गया है और मैंने पिस्टल लाकर रख दी है, तुम किसी बात की चिंता मत करना मैं खडा हूं।' पुलिस ने 7 फरवरी को डब्ल मर्डर का खुलासा करते हुए रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम और फिरोज को अरेस्ट करके जेल भेज दिया है। डबल मर्डर में फरार चल रहे मुख्य आरोपी परविंदर को पुलिस ने अरेस्ट कर जेल भेज दिया है।

बीजेपी और बसपा प्रत्याशी पर लगाना था आरोप-

बीजेपी और बसपा प्रत्याशी पर लगाना था आरोप-

रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम ने पुलिस की कहानी को झूठा बताते हुए अपने भाई और उसके दोस्त की हत्या के लिए अपने चुनावी दुश्मन और बसपा प्रत्याशी अर्जुन सिंह पर आरोप लगाया था। परविंदर के अरेस्ट होने के बाद मामले का खुलासा हो गया है। परविंदर की मानें तो मनोज डबल मर्डर के आरोप बीजेपी और बसपा के प्रत्याशी पर लगाकर लोगों की हमदर्दी हासिल करना चाहता था।

एमएलए बनने के लिए किसी को भी मरवा सकता था मनोज
मनोज के ममेरे भाई गुरूदीप उर्फ गुरूजी की मानें तो मनोज के ऊपर एमएलए बनने का भूत सवार था। वह किसी भी कीमत पर एमएलए बनना चाहता था। मनोज कहता था कि राजनीति में सब जायज है। मनोज ने दो दिन पहले कार्यालय पर दो-तीन कार्यकर्ताओं को मरवाने की बात कहीं थी और उसका आरोप बीजेपी-बीएसपी के प्रत्याशियों पर लगाने और राजनीतिक प्रोपेगेंडा बनाकर जनता की सहानुभूति लेना चाहता था।

परविंदर ने कहा, ‘मुझे मनोज ने फसाया, जेल में लूंगा धोखे का बदला'
वहीं, इस डबल मर्डर पर परविंदर का कहना है कि रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम ने उसे शराब पिलाकर डबल मर्डर की वारदात को अंजाम दिलवाया था। मनोज ने जो वादा परविंदर से किया था उसे पूरा भी नहीं किया। अब परविंदर मनोज को जेल में भुगतने की बात कह रहा है। परविंदर मनोज को जेल में मिलने पर उसे पीटने की धमकी दे रहा है। ये भी पढ़ें: बुलंदशहर: भाई की हत्या के बाद रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम का बयान, कहा हर हाल में जीतना है चुनाव

 
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
bulandshahr rld manoj gautam murderer arrested, parvinder told police about plan of murder.
Please Wait while comments are loading...