बुलंदशहर: भाई की हत्या के बाद रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम का बयान, कहा हर हाल में जीतना है चुनाव

Subscribe to Oneindia Hindi

बुलंदशहर। खुर्जा सीट से आरएलडी प्रत्याशी मनोज गौतम के भाई और दोस्त की हत्या में पुलिस को नई जानकारी प्राप्त हुई है। सूत्रों की माने तो परविंदर और फिरोज ने जमीन के लालच में दोनों की हत्या की है। मनोज गौतम चुनाव जीतने के बाद दोनों के नाम जमीन का बैनामा कराने का वादा किया था।

Read more: मेरठ: शाहिद मंजूर के रोड शो को पुलिस ने रोका तो भिड़ गए समर्थक

बुलंदशहर: भाई की हत्या के बाद रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम का बयान, कहा हर हाल में जीतना है चुनाव

आरएलडी प्रत्याशी मनोज गौतम ने मतदाताओं की सहानुभूति लेने के लिए अपने भाई विनोद और उसके दोस्त सचिन की 6 फरवरी की रात हत्या करा दी थी। इस हत्याकांड को अंजाम देने के लिए परविंदर-फिरोज और मनोज के बीच बड़ी डील हुई थी। पुलिस सूत्रों की माने तो मनोज गौतम ने परविंदर और फिरोज को उन्हीं के गांव में जमीन दिलाने का वादा किया था।

बुलंदशहर: भाई की हत्या के बाद रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम का बयान, कहा हर हाल में जीतना है चुनाव

परविंदर ने बदली थी योजना

सूत्रों की मानें तो परविंदर-फिरोज और मनोज गौतम के बीच विनोद का अपहरण करने की डील हुई थी। लेकिन गाड़ी में विनोद का दोस्त सचिन भी चला गया। सचिन को साथ देखकर मुख्य आरोपी ने अंतिम वक्त पर स्क्रिप्ट बदल दी और विनोद और सचिन की हत्या कर दी।

बुलंदशहर: भाई की हत्या के बाद रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम का बयान, कहा हर हाल में जीतना है चुनाव

ये होता तो नहीं होती विनोद और सचिन की हत्या!

पुलिस सूत्रों की मानें तो जनसभा के बाद केवल विनोद को जाना था, लेकिन विनोद का दोस्त सचिन भी उसके साथ जाने की जिद करने लगा और उसके साथ गाड़ी में चला गया। परविंद किसी भी कीमत पर कोई रिस्क नहीं उठाना चाहता थ। परविंदर की स्क्रिप्ट में विनोद को अगवा कर कुछ दिन तक जिंदा रखने के बाद हत्या करना था लेकिन सचिन के आने से उसे अपनी प्लानिंग बदलनी पड़ी।

बुलंदशहर: भाई की हत्या के बाद रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम का बयान, कहा हर हाल में जीतना है चुनाव

'अब तुम लोग चुनाव देख लेना'

आरएलडी प्रत्याशी मनोज गौतम से जेल में मिलने पहुंचे गांव के लोगों से कहा कि वह जेल जा रहा है, क्षेत्र में जाकर चुनाव की तैयारियां जारी रखना। उसे हर हाल में चुनाव जीतना है। मनोज को अपने भाई की मौत का गम नहीं था। चिंता थी तो सिर्फ और सिर्फ चुनाव की।

परविंदर की तलाश में पुलिस

डबल मर्डर का मुख्य आरोपी परविंदर अभी फरार है। परविंदर की तलाश में पुलिस अलीगढ़ स्थित उसके गांव से लेकर रिश्तेदार और अन्य ठिकानों पर लगातार दबिश दे रही है। सूत्रों की माने तो परविंदर की गिरफ्तारी से कई नए रहस्यों से पर्दो उठ सकता है।

Read more: इस बार के चुनाव में मायावती के हाथियों को ढका नहीं जाएगा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Bulandshahr: Accuse of brother murder Rld candidate Manoj Gautam claim for win
Please Wait while comments are loading...