उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले बढ़ सकती है BSP की मुसीबत, IT के रडार पर माया के भाई की कंपनियां

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो और राज्य सभा सांसद मायावती के लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं। टीवी चैनल टाइम्स नाऊ की एक रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के भाई आनंद कुमार की कंपनियों ने सात साल के अंदर करीब 18 हजार फीसद का लाभ कमाया है। इन सात सालों में से 5 साल 2007 से 2012 तक प्रदेश में मायावती की सरकार थी।

anand kumar उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले बढ़ सकती है BSP की मुसीबत, IT के रडार पर माया के भाई की कंपनियां

रिपोर्ट के अनुसार आनंद कुमार के लाभ का यह मामला अब आयकर विभाग के पास है, जो इसका जांच कर रहा है। विभाग आनंद कुमार की 1316 करोड़ रुपए की संपत्ति की जांच कर रहा है। बताया गया है कि आनंद कुमार 12 बड़ी कंपनियों के मालिक हैं साथ ही यह मामला इस साल का सबसे बड़ा राजनीतिक स्कैंडल है। बता दें कि 1316 करोड़ रुपए की संपत्ति जो जांच के घेरे में है, उसमें से 440 करोड़ रुपए नकदी और 870 करोड़ रुपए जमीन समेत अचल संपत्ति है।
रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि माया के भाई आनंद की ओर से फर्जी कंपनियां भी चलाई जाती थीं। आनंद की एक कंपनी दिया प्राइवेट लिमिटेड है जिसने सात साल में 45,257 फीसद लाभ अर्जित किया है। इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मायावती के भाई आनंद के बैंक खाते में 1.43 करोड़ और बसपा के एक खाते में 104 करोड़ रुपये जमा कराए जाने का पता लगा था। कहा जा रहा है कि ये सारी राशि 8 नवंबर को नोटबंदी के फैसले के बाद जमा कराई गई। ये भी पढ़े: गोरखपुर: बसपा ने बस्ती मंडल की आठ सीटों पर 4 मुस्लिम, 1 महिला उम्मीदवार को उतारा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Bsp Chief Mayawati brother anand kumar is on radar of income tax department
Please Wait while comments are loading...