एसी, कार खरीदने के लिए भाई का अपहरण, फिरौती न मिलने पर हत्या

Subscribe to Oneindia Hindi

बरेली। यूपी में बरेली पुलिस ने थाना बिथरी चैनपुर के गांव साजनपुर मे बच्चे का अपहरण कर हत्या करने का खुलासा कर दिया है। पुलिस ने बच्चे की हत्या के आरोप में चचेरे भाई और उसके मित्र को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार बच्चे की हत्या फिरौती मिलने में देरी के चलते की गई थी।

Read Also: नेशनल हाईवे पर पुलिस और गुंडों के बीच मुठभेड़, देखिए एनकाउंटर PICS

एसी, कार खरीदने के लिए भाई का अपहरण, फिरौती न मिलने पर हत्या

क्या था मामला

थाना बिथरी चैनपुर थाना क्षेत्र के रहने वाले बबलू यादव ने 16 जुलाई को अपने बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस दौरान बबलू यादव के भतीजे टिंकू यादव ने अपने चाचा बबलू यादव को खेत की मेड़ से एक फिरौती पत्र मिलने की बात कही। इस पत्र मे 6 लाख 40 हजार रुपए फिरौती मांगी गई थी। बबलू यादव ने यह पत्र पुलिस को दे दिया। पुलिस को शक होने पर गांव में पूछताछ के दौरान पता चला कि टिंकू इस काम मे लिप्त हो सकता है।

पुलिस ने जब कड़ाई से पूछताछ की तो टिंकू टूट गया और उसने अपने भाई की हत्या करने की बात कबूल ली। टिंकू ने बताया कि उसने अपने दोस्त रघुनन्दन के साथ मिलकर हत्या की और शव को घर में गड्ढा खोदकर गाड़ दिया। पुलिस ने टिंकू के घर से सौरभ का शव बरामद कर लिया।

क्यों की दोस्त के साथ मिलकर भाई की हत्या?

पुलिस के अनुसार टिंकू और रघुनन्दन आरामपसंद ख्याल के आदमी हैं। दोनों जल्दी पैसा कमाना चाहते हैं। दोनों ने मिलकर बबलू यादव के बेटे की इसलिए हत्या कर दी ताकि फिरौती के पैसे से वह अपने घर के लिए एसी और घूमने के लिए कार खरीद सके। एसपी सिटी रोहित ने बताया टिंकू और रघुनन्दन को बच्चे की हत्या के आरोप में जेल भेजा जा रहा है।

Read Also: कोटखाई गैंगरेप-मर्डर के विरोध में शिमला में हल्ला बोल, लोगों का प्रदर्शन

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Brother kidnapped and murdered for ransom in Bareilly, Uttar Pradesh.
Please Wait while comments are loading...