मुलायम से साइकिल छीन ली, उन्हें पीछे भी नहीं बैठाया- वेंकैया नायडू

उत्तर प्रदेश में अधिकारियों की तैनाती और उनके दुरउपयोग के खिलाफ भाजपा पहुंची चुनाव आयोग, भाजपा ने सपा पर लगाया अधिकारियों पर दबाव बनाने का आरोप|

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में तमाम अधिकारियों की तैनाती पर भारतीय जनता पार्टी ने सवाल उठाते हुए आज चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया। इस दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता वेंकैया नायडू आयोग पहुंचे और तमाम मुद्दों पर आयोग के सामने अपनी शिकायत दर्ज कराई। इस दौरान उनके साथ मुख्तार अब्बास नकवी समेत कई अन्य नेता मौजूद थे। वेंकैया नायडू ने तमाम शहरों के डीएम के कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए आयोग से उनके तबादले की अपील की। नायडू ने कहा कि मेरठ, कानपुर, फिरोजाबाद सहित तमाम जिलों के डीएम सरकार के प्रभाव में काम कर रहे हैं।

मुलायम से साइकिल छीन ली, उन्हें पीछे भी नहीं बैठाया- वेंकैया नायडू

अधिकारियों को हो रहा दुरउपयोग
वेंकैया नायडू ने कहा कि तमाम शहरों के डीएम दबाव में काम कर रहे हैं, उनका पूर्व की सपा-बसपा सरकारों ने दुरउपयोग किया है। नायडू ने आरोप लगाया कि इन अधिकारियों को इस बाद का डर दिखाया जा रहा है कि सरकार आने के बाद उन्हें इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे अगर वह उनकी मर्जी के अनुसार काम नहीं करते हैं। डीएम को डराया जाता है और दबाव बनाया जाता है कि सरकार में आने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी, ऐसे में हम चाहते हैं कि आयोग प्रदेश में निष्पक्ष चुनाव कराए। अधिकारियों की नियुक्ति पर नायडू ने कहा कि एक अधिकारी एक जिले में चार साल तक रहना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं होता है, हमने आयोग से कहा है कि जो अधिकारी दो साल से अधिक समय तक तैनात हैं उन्हें अस्थाई रूप से हटाया जाए और चुनाव के बाद उन्हें फिर से तैनात किया जा सकता है। नायडू ने कहा कि हमारी लड़ाई सपा की गुंडागर्दी, परिवारववाद, के खिलाफ है।
मुलायम से साइकिल छीन ली और पीछे भी नहीं बैठाया
सपा-कांग्रेस के गठबंधन पर हमला बोलते हुए नायडू ने कहा कि सपा ने अपना विश्वास खो दिया है, इसलिए गठबंधन किया है। 2012 में बहुमत पाया और सरकार चलाया और अपना वायदा नहीं निभाया और विश्वास खो दिया, इसी वजह से उन्हें गठबंधन करने की जरूरत पड़ी। उन्होंने कहा कि साईकिल का हैंडल कांग्रेस के हाथ में दे दिया है, जिस हाथ ने देश को बर्बाद किया है, ऐसे हाथ में इन्होंने अपनी पार्टी का हैंडल दे दिया। मुलायम सिंह के बारे में बोलते हुए नायडू ने कहा कि ऐसे व्यक्ति से साइकिल छीन ली जिसने पार्टी को खड़ा किया और उन्हें पीछे भी नहीं बैठाया इससे साफ है कि इनका विश्वास खत्म हो चुका है।
नायडू ने कहा कि काफी लोग कुछ इलाके में गुंडागर्दी के कारण गांव छोड़कर चले गए, हमने आयोग से अनुरोध किया है कि आप आदेश जारी करिए कि लोग आए और बेखौफ होकर अपना वोट दें। वहीं चुनाव प्रचार के दौरान गाड़ियों पर पार्टी के झंडे और स्टीकर लगाने की पाबंदी पर नायडू ने कहा कि पार्टी के प्रचार में मोटरसाइकिल कैंपेन में अगर चुनाव चिन्ह नहीं होगा तो कैसा प्रचार,यह हमारा अधिकार होता है।
यूपी चुनाव: मुलायम से अलग अखिलेश की सपा को पसंद कर रहे बीजेपी के समर्थक भी, जानें क्यों
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
BJP reaches election commission against state government pressure on officer. BJP takes on SP says they are misusing the officers.
Please Wait while comments are loading...