वाराणसी: भाजपा नेता ही कर रहे हैं सोशल मीडिया पर पार्टी कैंडिडेट्स की छीछालेदर

By: प्रियंका
Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में बीजेपी टिकट वितरण को लेकर हो रहा घमासान अब सोशल मीडिया पर भी देखने को मिल रहा है। जहां टिकट मिले हुए प्रत्याशियों से नाराज बीजेपी नेता उन प्रत्याशियों के ऊपर आरोपों की झड़ी लगा रहे हैं। आलम ये है कि एक-दूसरे की पोल खोलने में बीजेपी नेता ये भी भूल गए हैं कि उनकी इस लड़ाई का विपक्ष मजा ले रहे हैं। ये भी पढ़ें: स्वाति सिंह के खिलाफ अखिलेश ने उतारा अपने चचेरे भाई को

क्यों हो रहा है ये विवाद?

क्यों हो रहा है ये विवाद?

पिछले कुछ दिनों से वाराणसी में लगातार बीजेपी अंदरूनी कलह का सामना कर रही है। ये कलह उस दिन से शुरू हुई जब शीर्ष नेतृत्व में वाराणसी में शहरी क्षेत्रों के उम्मीदवारों का चयन कर उन्हें टिकट दिया गया। जिसके बाद से शहर की तीनों सीट, कैंट, उत्तरी और दक्षिणी के बीजेपी नेता टिकट वितरण से नाराज हैं और अब सड़क पर उतर कर इसका विरोध कर रहे हैं।

क्या हो रहा है वायरल ?

क्या हो रहा है वायरल ?

लेकिन ये विरोध यहीं नहीं रुका बल्कि सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है। इन तीनों सीटों पर अपनी दावेदारी तय करने वाले नेता अब सोशल मीडिया फेसबुक, व्हाट्स एप और ट्विटर का सहारा ले रहे हैं। टिकट मिले हुए प्रत्याशियों के ऊपर गंभीर से गंभीर आरोप लगाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं।

क्या कह रहे हैं सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने वाले नेता

क्या कह रहे हैं सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने वाले नेता

बता दें कि हाल ही में शहर उत्तरी से टिकट वितरण से नाराज बीजेपी किसान मोर्चा के प्रदेश महामंत्री सुजीत सिंह टिका ने सोशल मीडिया पर युद्ध ही छेड़ दिया है। इन्होंने मौजूदा विधायक और उम्मीदवार रविन्द्र जायसवाल के खिलाफ एक से बढ़कर एक पोस्ट किये हैं। जिसमें रविन्द्र जायसवाल को अपराधी से लेकर इनके कामकाजों पर भी सवाल उठाए गए हैं। इनका कहना है कि मैंने अपनी बात रखने के लिए, सोशल मीडिया का सहारा लिया है। वहीं, कैंट और दक्षिणी में भी जहां श्याम देव राय चौधरी के समर्थन में पोस्ट हो रहे हैं और वहीं, सौरभ श्रीवास्तव को लेकर वंशवाद के पोस्ट देखने को मिल रहे हैं।

क्या कहना है विपक्ष का?

क्या कहना है विपक्ष का?

बीजेपी के इस सोशल मीडिया वार का मजा जहां विपक्ष ले रहे हैं तो वहीं आम जनता भी इनकी इस लड़ाई में नेताओं के चरित्र पर हंसी उड़ा रही है। कांग्रेस नेता रविन्द्र कपूर का कहना है कि बीजेपी की अन्तर्कलह सड़क के साथ-साथ अब सोशल मीडिया पर लोगों ने देख ली है। इससे पता चलता है कि उनके नेता पद को लेकर ही जनता के सामने जाते हैं। वहीं फेसबुक यूजर छोटू पांडेय कहते हैं कि सोशल मीडिया पर बीजेपी नेताओं के ऊपर आरोप देखकर पता चलता है कि बीजेपी के नेताओं का काम पर ध्यान कम और टिकट पर ज्यादा है। ये भी पढ़ें:योगी आदित्य नाथ बोले- डर लगता है कहीं यूपी से सामूहिक पलायन ना हो

 
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
bjp candidate turmoil in varanasi viral on social media in uttar pradesh.
Please Wait while comments are loading...