यूपी इलेक्शन: फरीदपुर के चुनावी मैदान में होगा भाभी और ननद का मुकाबला

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बरेली। बरेली की सुरक्षित फरीदपुर सीट पर ननद और भाभी के बीच जबरदस्त मुकाबला होने जा रहा है। ननद शालिनी सिंह ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में पर्चा भरा है तो वहीं, भाभी पूनम सेन पीस पार्टी से ताल ठोकने जा रही हैं। वे 27 तारीख को अपना नामांकन कराएंगी। गौरतलब है कि दोनों उम्मीदवार समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ना चाहती थी। ये भी पढ़ें: बरेली: पीस पार्टी की कैंडिडेट राबिया के आने से कैंट में मुकाबला हुआ दिलचस्प

यूपी इलेक्शन: फरीदपुर के चुनावी मैदान में होगा भाभी और ननद का मुकाबला

मिली जानकारी के अनुसार पूनम और शालिनी दोनों ने ही काफी समय पहले अपना चुनाव प्रचार शुरू कर दिया था और इसी कारण दोनों की पहुंच जनता तक हो चुकी है। बताया गया कि ननद-भाभी सपा की टिकट से विधायकी का चुनाव लड़ना चाहती थी। लेकिन सपा ने दोनों के बीच के असंतुलन को देख विधायक सिया राम सागर को टिकट देकर उनपर एक बार फिर दांव खेला है।

बता दें कि जब बात नहीं बन पाई तो दोनों प्रत्याशी अपने-अपने हिसाब से चुनावी मैदान में उतर गईं। फरीदपुर की रहने वाली पूनम सेन के पति भीम सेन बांदा जिले में वन अधिकारी के पद पर तैनात हैं। जबकि पूनम की ननद शालिनी की शादी बदायूं जिले के केपी सिंह से हुई है। केपी सिंह बरेली जिले के आबकारी विभाग में तैनात हैं। वहीं, एक ही परिवार के दो लोगों के सामने आने से क्षेत्र के वोटर को तय करने में यह दिक्कत आ रही है कि वे किसे अपना मत दें। ऐसे में दोनों का मुकाबला पांच बार के विधायक रहे सिया राम सागर से है। सिया राम की जीत को देखते हुए सपा ने फिर से सागर पर दांव खेला है। ये भी पढ़ें: बरेली में कांग्रेस ने उतारे अपने उम्मीदवार, जानिए उनकी राजनीतिक कुंडली

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
bareilly faridpurconstituency non party candidate nomination in uttar pradesh.
Please Wait while comments are loading...