क्राइम पेट्रोल से सीखकर चाची ने ढाई साल के भतीजे का किया कत्ल

Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। संगम नगरी में बड़ी निर्दयता के साथ एक महिला ने अपने ही भतीजे का कत्ल कर दिया है। उसने क्राइम पेट्रोल सीरियल से आइडिया लिया और फिर ढाई साल के मासूम की गला घोटकर हत्या के बाद गद्दे के नीचे उसकी लाश छिपा दी। रात में लाश को ठिकाने लगाने से पहले पुलिस पहुंच गई और लाश बरामद हो गई। बच्चे के मुंह में कपड़ा ठूसा हुआ था और गले पर काला निशान बना हुआ था। महिला ने इस हत्या में अपने मां-बाप और भाई को भी शामिल किया था । बेटी के इस गुनाह के बाद मां-बाप और भाई भी अब सलाखों के पीछे पहुंच गये हैं। घटना का खुलासा करते हुये एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि हत्या का पूरा प्लान क्राइम पेट्रोल देखकर महिला ने बनाया था। उसके इस कृत्य में माता-पिता व ममेरे भाई भी शामिल थे। सभी को जेल भेज दिया गया है।

Read Also: थाना छोड़कर भाग रहे घूसखोर थानेदार को उनके ही सिपाहियों ने किया गिरफ्तार

बच्चा हुआ गायब तो परिवार ने शुरू की तलाश

बच्चा हुआ गायब तो परिवार ने शुरू की तलाश

घटना इलाहाबाद के उतरांव इलाके की है। यहां के सतीश कुमार का बेटा शाश्वत एक दिन पहले आंगन में खेल रहा था और यही से अचानक वह लापता हो गया। आस-पास तलाश की गई लेकिन कुछ पता नहीं चला। इस बावत पूरे गांव में हड़कंप मच गया। कुछ घंटे बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस पहुंची तो सतीश के अनुसार परिवार की भाभी यानी शाश्वत की रिश्ते की चाची कंचन पर उसने शक जताया। जिस पर पुलिस ने चाचा- चाची को हिरासत में लिया और थोड़ी कड़ाई की तो मामला खुल गया। ढाई साल के मासूम की गला घोंटकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने घर के सेकेंड फ्लोर में गद्दे के नीचे से शव बरामद किया। बच्चे को निर्दयता से मारा गया था ।

क्यों और कैसे हुई मासूम की हत्या?

क्यों और कैसे हुई मासूम की हत्या?

पुलिस के अनुसार 2 महीने पहले कंचन के 10 साल के बेटे शिवम के सिर में गेंद लगने से मौत हो गई थी जिससे कंचन को हर बच्चे से जलन होती थी। वह सतीश के बेटे को देखती तो गुस्से से तिलमिला जाती। ऊपर से कंचन का पति बबलू भी शाश्वत को खूब दुलार करता था जिससे वह अपने पति पर भी शक करने लगी थी। वह सीरियल देख-देख कर शक्की और गुस्सैल हो गयी थी और बात-बात पर शक करती। इसे लेकर झगड़ा भी होता था। अभी चंद दिन पहले कंचन और सुमन यानी शाश्वत की मां में विवाद हुआ तो सुमन ने बेटे की मौत पर भी तंज कसा था। इसके बाद गुस्से से भरी कंचन ने शास्वत को ही मारने का प्लान बना डाला।

हत्या के प्लान में मां-बाप, भाई को किया शामिल

हत्या के प्लान में मां-बाप, भाई को किया शामिल

कंचन ने अपनी इस खतरनाक मंसूबे को अंजाम देने के लिये ममेरे भाई मनोज, मां कमलेश और पिता कल्पनाथ को भी शामिल कर लिया। उसने सीरियल में देखा कि कैसे हत्या कर बच निकलना है। प्लान के अनुसार दो दिन पहले शाम को मां कमलेश और पिता कल्पनाथ आ गये और फिर कंचन ने अपनी 7 साल की बेटी से शाश्वत को घर बुला लिया। इसके बाद मासूम को घर के सेकेंड फ्लोर पर ले जाकर बेडशीट से गला कसकर मार डाला और लाश को गद्दे के नीचे दबा दी। प्लान था कि रात में मनोज डेड बॉडी को कानपुर ले जायेगा और वहीं दफनायेगा।

क्या कह रहे अधिकारी

क्या कह रहे अधिकारी

मामले में एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि इस घटना के पीछे सतीश की चाची कंचन का मास्टरमाइंड था। उसने टीवी पर क्राइम पेट्रोल देखकर हत्या का प्लान बनाया और अपने माता-पिता की मदद से हत्या कर दी। रात में कंचन का भाई मनोज शव को ठिकाने लगाता लेकिन उससे पहले ही वह पकड़ ली गई। घटनाक्रम को बताते हुये उतरांव थाना प्रभारी गजानन चौबे ने बताया कि जांच में यह साफ हो गया कि कंचन के पति बबलू को घटना के बारे में नहीं पता था इसलिये उसे छोड़ दिया गया है।

Read Also: भाई की हत्या का बदला लेने के लिए हुआ हाईवे पर दिनदहाड़े डबल मर्डर

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Aunty killed his nephew in Allahabad.
Please Wait while comments are loading...