एंटी रोमियो दल: महिलाओं ने सराहा तो पुलिस की गलती से हुआ कुछ बदनाम

योगी राज में एंटी रोमियो अभियान को पहले तो सराहना मिली लेकिन जल्दी ही यह पुलिस की बदसलूकियों की वजह से आलोचनाओं का शिकार हुआ जिसके बाद सरकार को सख्त निर्देश देने पड़े।

Subscribe to Oneindia Hindi

दिल्ली। वैलेंटाइन डे को विदेशी संस्कृति बताकर भाजपा और आरएसएस से जुड़ा संगठन बजरंग दल कॉलेजों, पार्कों सहित अन्य सार्वजनिक जगहों पर 14 फरवरी को पिछले कई सालों से बवाल करता रहा है। उत्तर प्रदेश में भारी बहुमत के साथ बीजेपी की योगी आदित्यनाथ की सरकार बनते ही अचानक कुछ वैसा ही बवाल होने लगा। यूपी के चुनावी घोषणापत्र में किए वादे के अनुसार सरकार बनते ही भाजपा ने लड़कियों से छेड़खानी करनेवाले मनचलों पर लगाम कसने के लिए एंटी रोमियो स्क्वॉड का गठन कर दिया। इसके फायदे भी मिले। कई महिलाओं ने कहा कि इससे अब वे सेफ फील करती हैं।

लेकिन कई जगहों पर एंटी रोमियो स्क्वॉड इस अभियान की आड़ में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं की तरह भारतीय संस्कृति का रक्षक बन गया और पार्कों जैसे सार्वजनिक जगहों पर लड़के-लड़कियों को परेशान करने की घटनाएं सामने आने लगी। यूपी पुलिस पर लड़के-लड़कियों से वसूली के आरोप लगे। कुछ जगहों पर लड़की के साथ जा रहे भाई और चाचा को ही एंटी रोमियो स्क्वॉड ने मनचला समझ लिया। सोशल मीडिया पर एंटी रोमियो स्क्वॉड की काफी आलोचना हुई। हालात ऐसे हो गए कि पुलिस के आलाधिकारियों को एंटी रोमियो स्क्वॉड को सख्त निर्देश देने पड़े। इसके बाद अचानक यह पूरा अभियान शांत हो गया।

Read Also:कैसे मोदी की राह पर चल रहे हैं योगी, ये रहे सबूत...

सरकार बनते ही एंटी रोमियो अभियान का हुआ श्रीगणेश

यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनते ही एंटी रोमियो स्क्वॉड का गठन हुआ और यह अभियान चल पड़ा। पुलिस कॉलेजों और पार्कों जैसी जगहों पर मनचलों को पकड़ने में जुट गई। अलग-अलग शहरों में इस अभियान को जोर-शोर से चलाया जाने लगा और कई मनचलों की गिरफ्तारी हुई। सरकार के आदेश का पालन करने में पुलिस मुस्तैद नजर आई। लेकिन इस मुस्तैदी को विवादों में घिरने में ज्यादा समय नहीं लगा। जल्दी ही यह अभियान पुलिस के खराब रवैयों की वजह से बेकसूरों को परेशान करनेवाले अभियान में बदल गया। पुलिस लड़कों को मुर्गा बनाने और सिर मुंडवाने जैसी सजा देने लगी। सोशल मीडिया में इस अभियान को आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा।

झांसी में पुलिस अधिकारी ने करवाई उठक-बैठक

एंटी रोमियो दल की नतृत्व कर रही एक प्रशिक्षु आईपीएस सौम्या पांडेय ने झांसी के रानी लक्ष्मीबाई किले में छापा मारकर वहां लड़के-लड़कियों के साथ दुर्व्यवहार किया। उन्होंने सबके सामने एक लड़के को उठक-बैठक करवाई जबकि वह हाथ जोड़ता रहा। इसका वीडियो सामने आया तो मामला गर्मा गया और घटना की काफी आलोचना हुई। डीआईजी ने संज्ञान लेते हुए प्रशिक्षु आईपीएस सौम्या पांडेय को फटकार लगाई और काम करने की शैली बदलने को कहा।

शाहजहांपुर में एक लड़के का सर मुंडवा दिया

शाहजहांपुर में एक लड़के को रोमियो बताकर पुलिस के सामने भीड़ ने सर मुंड दिया। एंटी रोमियो अभियान के नाम पर हुई इस ज्यादती का पता तब चला जब इसका वीडियो वायरल हुआ। इस मामले में तीन पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया।

देवरिया में भाई-बहन को पकड़ा, रामपुर में चाचा-भतीजी

देवरिया में भाई-बहन को पकड़ा, रामपुर में चाचा-भतीजी

देवरिया में मार्च के आखिरी सप्ताह में एंटी रोमियो स्क्वॉड ने चौराहे पर एक भाई-बहन को पकड़ लिया। जब उन्होंने अपना रिश्ता बताया तो भी पुलिस मानने को तैयार नहीं हुई और कोतवाली ले आई। इसके बाद उनके माता-पिता को बुलाया गया तो उन्होंने कहा कि वे उसके बेटा-बेटी हैं। फिर पुलिस ने माफी मांगकर भाई-बहन को छोड़ा।

रामपुर में एकता चौकी के दो पुलिसकर्मियों ने चाचा-भतीजी को पकड़ लिया और एंटी रोमियो अभियान की आड़ में दोनों को पांच घंटे तक बैठाए रखा। पुलिसकर्मियों ने 5,000 रुपए की रिश्वत लेकर दोनों को छोड़ा। मामले का वीडियो सामने आने पर दोनों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया।

मुरादाबाद में टीचर से नोट्स लेने गई लड़की को धरा

यूपी में एंटी रोमियो अभियान के बारे में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ कर दिया था कि किसी को इस अभियान से परेशान नहीं किया जाएगा। लेकिन ठाकुरद्वारा में एक छात्रा बार-बार कहती रही कि मैं सर से नोट्स लेने आयी हूं पर पुलिस उसे और टीचर को थाने लेकर चली गई। पुलिस को किसी ने सूचना दी कि एक घर में युवक-युवती रंगरेलियां मना रहे हैं। इसी सूचना पर कार्रवाई कर पुलिस ने दोनों को घंटों कोतवाली में बैठाने के बाद जाने दिया।

एंटी रोमियो स्क्वॉड के काम को कई महिलाओं ने सराहा

एंटी रोमियो स्क्वॉड के काम के बारे में जब वनइंडिया ने सर्वे कराया तो कई महिलाओं ने इसकी सराहना करते हुए कहा कि इससे फर्क पड़ा है और यह वुमन सिक्योरिटी के लिए अच्छा है। वहीं एक महिला ने यह भी कहा कि यूपी पुलिस एंटी रोमियो स्क्वॉड के नाम पर वसूली कर रही है।

पुलिस के सख्त निर्देशों के बाद अभियान पड़ा ठंडा

पुलिस के सख्त निर्देशों के बाद अभियान पड़ा ठंडा

मार्च के आखिरी सप्ताह में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश पर डीजीपी और सरकार ने एंटी रोमियो अभियान चला रही पुलिस के लिए सख्त दिशानिर्देश जारी किए। एंटी रोमियो दल को कहा गया कि वे कार्रवाई करते समय बाल कटवा देने, कालिख पुतवा देने या मुर्गा बनाने जैसा काम न करे। सिर्फ शोहदों की पहचान करें और उनके खिलाफ कार्रवाई करें। सख्त निर्देशों के बाद अचानक यह अभियान ठंडा पड़ गया।

Read Also:1 महीने की सर्वे रिपोर्ट: दो विवादित फैसलों ने सीएम योगी को बनाया हीरो

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Anti Romeo Squad of Yogi Govt, a review.
Please Wait while comments are loading...