इलाहाबाद विवि. : गुस्साए छात्रों ने कुलसचिव से जबरन लिखवाया इस्तीफा तो चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

छात्रों ने बीते गुरुवार को लाठीचार्ज और जाबिर रजा के आत्मदाह के प्रयास पर जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए कुलपति के इस्तीफे की मांग की है।

Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के हालात ठीक नहीं चल रहे हैं। लगातार छात्रों का बवाल जारी है। अनशन पर बैठे छात्र कुलपति के इस्तीफे पर तुले हुए हैं। छात्रों ने जबरन कुलसचिव प्रो. एनके शुक्ल से इस्तीफा भी लिखवा लिया है। चुनाव आयोग के पर्यवेक्षक ने मामले को ला एंड आर्डर भंग होने की आशंका व्यक्त की है और आयोग द्वारा तलब हुई रिपोर्ट के लिए प्राइमरी कॉपी भेज दी है।

Read more: इलाहाबाद: 10 साल की छात्रा से प्रधान अध्यापक ने की अश्लील हरकत, परिजनों के हंगामें के बाद गिरफ्तारी

इलाहाबाद विवि. : गुस्साए छात्रों ने कुलसचिव से जबरन लिखवाया इस्तीफा तो चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

जिसके बाद छात्रों की चार प्रमुख मांगे मान भी ली गई। लेकिन छात्रसंघ पदाधिकारियों ने बीते गुरुवार को लाठीचार्ज और जाबिर रजा के आत्मदाह के प्रयास पर जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए कुलपति के इस्तीफे की मांग की है। देर शाम से 7 छात्र अनशन पर भी बैठ गए हैं। हालात खराब होते देख यूनिवर्सिटी कैंपस और छात्र नेताओं की हर मूवमेंट पर नजर रखने और पल-पल की रिपोर्ट देने के लिए लोकल सुरक्षा यूनिटों को सक्रिय कर दिया है।

इलाहाबाद विवि. : गुस्साए छात्रों ने कुलसचिव से जबरन लिखवाया इस्तीफा तो चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

छात्रों ने कुलसचिव से जबरन लिखवाया इस्तीफा

इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय परिसर में चल रहा बवाल थमता नजर नहीं आ रहा है। माहौल को शांत करने की दिशा में कुलसचिव प्रो. एनके शुक्ल ने अपने पद की कुर्बानी भी दे दी है। हालांकि छात्रों ने उनसे जबरन इस्तीफा लिखवाया है। इसके बावजूद भी छात्रों का आक्रोश शांत नहीं हुआ है।

एक्शन में छात्रसंघ अध्यक्ष रोहित मिश्र

इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ अध्यक्ष रोहित मिश्र भी पूरे एक्शन में हैं और हर कीमत पर अपनी बात मनवाने पर अड़ गए हैं। वीसी दफ्तर पर प्रदर्शन कर रहे हजारों छात्रों को संबोधित करते हुए छात्रसंघ अध्यक्ष रोहित मिश्र ने कहा कि कुलपति को खुद ही इस्तीफा दे देना चाहिए। लाठी चार्ज कर प्रशासनिक तानाशाही की जा रही है। जाबिर रजा के आत्मदाह के प्रयास के लिए जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

इलाहाबाद विवि. : गुस्साए छात्रों ने कुलसचिव से जबरन लिखवाया इस्तीफा तो चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

कुलपति डर के चलते नहीं आ रहे हैं यूनिवर्सिटी

विश्वविद्यालय परिसर में बढ़ते बवाल की आशंका से डरे कुलपति प्रो. रतन लाल हांगलू यूनिवर्सिटी कैंपस ही नहीं आए। हालांकि उन्हें पल-पल की जानकारी दी जा रही है। कुलपति कार्यालय को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। चुनाव आयोग के स्थानीय अधिकारी की भूमिका निभा रहे जिला प्रशासन ने चुनाव के परिप्रेक्ष्य में किसी भी अप्रिय वारदात को टालने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन से छात्रों की मांगें मानने का सुझाव दिया है।

छात्रसंघ FIR वापसी की कर रहे हैं मांग

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में बवाल के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमे को वापस लेने के लिए भी शंखनाद कर दिया गया है। छात्र जाबिर रजा पर दर्ज एफआईआर वापस करने के लाए छात्र संगठन ने स्पष्ट कर दिया है कि वह किसी भी हद तक जा सकते हैं।

Read more: वाराणसी: नामांकन करने रिक्शा चलाकर पहुंचा निर्दलीय प्रत्याशी, कहा 'मैं निकला गड्डी ले के'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Allahabad university- Students protest against Vice chancellor, Election Commission questioned for law and order
Please Wait while comments are loading...