इलाहाबाद: चुनाव आयोग का नियम तोड़ने पर निर्दलीय प्रत्याशी के खिलाफ FIR दर्ज, अपना दल का उठाया था झंडा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। प्रतापगढ़ सदर सीट पर कृष्णा पटेल गुट से नामांकन करने वाले प्रमोद मौर्या के ऊपर चुनाव आयोग का नियम तोड़ने पर एफआईआर दर्ज कराई गई है। वह अपना दल का झंडा लगाकर गांव में प्रचार-प्रसार कर रहे थे। मालूम हो कि पहले ही चुनाव आयोग से साफ कह दिया था कि अनुप्रिया पटेल की अपना दल सोनेलाल पार्टी ही चुनाव आयोग से रजिस्टर्ड है। दूसरे दल के किसी प्रत्याशी ने अगर अपना दल के पंजीकृत ध्वज या निशान का इस्तेमाल किया तो वो आयोग के नियम का उल्लंघन होगा। मामले में अनुप्रिया ने भी झंडा इस्तेमाल करने पर अपत्ति दर्ज कराई थी।

Read more: बीएसपी सुप्रीमो मायावती के सियासी भविष्य के लिए कितना अहम है ये यूपी चुनाव

प्रतापगढ़ सदर सीट पर कृष्णा पटेल गुट से नामांकन करने वाले प्रमोद मौर्या के ऊपर चुनाव आयोग का नियम तोड़ने पर एफआईआर दर्ज कराई गई है। वह अपना दल का झंडा लगाकर गांव में प्रचार-प्रसार कर रहे थे।

प्रतापगढ़ सदर सीट पर कृष्णा पटेल गुट से नामांकन करने वाले प्रमोद मौर्या के ऊपर चुनाव आयोग का नियम तोड़ने पर एफआईआर दर्ज कराई गई है। वह अपना दल का झंडा लगाकर गांव में प्रचार-प्रसार कर रहे थे।

गांव में कर रहे थे प्रचार

अपना दल कृष्णा गुट से प्रमोद मौर्या ने नामांकन किया था लेकिन चुनाव अयोग ने कृष्णा दल की स्वीकृति न होने के कारण प्रमोद को निर्दलीय प्रत्याशी घोषित किया था। इसी के मद्देनजर उन्हें चुनाव चिन्ह आवंटित किया था।

प्रतापगढ़ सदर सीट पर कृष्णा पटेल गुट से नामांकन करने वाले प्रमोद मौर्या के ऊपर चुनाव आयोग का नियम तोड़ने पर एफआईआर दर्ज कराई गई है। वह अपना दल का झंडा लगाकर गांव में प्रचार-प्रसार कर रहे थे।

निर्दलीय प्रत्याशी होने के बावजूद प्रमोद मौर्या ने अपना दल का झंडा इस्तेमाल किया जिसके चलते उन पर कोहरौड थाने में मुकदमा दर्ज किया गया। उन पर आयोग का नियम तोड़ने, अनाधिकृत रूप से दूसरे दल का नाम और झंडा प्रयोग करने आदि का आरोप है।

Read more: शाहजहांपुर: BJP प्रत्याशी के जुलूस में बांटी जा रही थी मिठाई, पुलिस ने किया मुकदमा दर्ज

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Allahabad: Independent candidate charged for election code of conduct, use Apna Dal flag for campaigning
Please Wait while comments are loading...