अखिलेश ने यूपी चुनाव में मुलायम से मांगे 403 टिकट, शिवपाल कर चुके हैं 175 टिकटों का ऐलान

अखिलेश यादव पहले भी कई बार कह चुके हैं कि 2017 के चुनाव में परीक्षा उनकी होनी है इसलिए टिकट वितरण का अधिकार उन्हें दिया जाए। वहीं शिवपाल यादव लगातार उम्मीदवारों का ऐलान कर रहे हैं।

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। यूपी के सबसे बड़े सियासी परिवार में एक बार फिर से कलह के संकेत नजर आ रहे हैं। रविवार को यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह को 403 प्रत्याशियों की एक सूची सौंपी, जबकि प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव पहले ही 175 उम्मीदवारों की घोषणा कर चुके हैं। ऐसे में अखिलेश की दी गई सूची को लेकर दोनों के बीच घमासान छिड़ सकता है। अखिलेश यादव पहले भी कई बार कह चुके हैं कि 2017 के चुनाव में परीक्षा उनकी होनी है इसलिए टिकट वितरण का अधिकार उन्हें दिया जाए। वहीं, मुलायम सिंह यादव के निर्देश पर शिवपाल यादव लगातार उम्मीदवारों का ऐलान कर रहे हैं। यही नहीं, शिवपाल ने करीब एक दर्जन ऐसे उम्मीदवारों के टिकट भी काट दिए हैं जो अखिलेश के करीबी माने जाते हैं।

akhilesh yadav

इस बीच समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने अपने पहले दिए गए बयान से पलटते हुए रविवार को कहा कि चुनाव में बहुमत मिलने के बाद विधायक ही अपने मुख्यमंत्री का चयन करेंगे। यह पार्टी संविधान की व्यवस्था है। इससे पहले तक शिवपाल कहते आ रहे थे कि 2017 में अगर सपा की सरकार बनी तो अखिलेश यादव ही मुख्यमंत्री होंगे। इसके अलावा शिवपाल ने ट्वीट कर कहा, 'टिकट का बंटवारा जीत के आधार पर होगा, अभी तक 175 लोगों को टिकट दिया जा चुका है। पार्टी में किसी प्रकार की अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी, जो पार्टी की छवि को नुकसान पहुंचाए।' शिवपाल यादव के नए बयान से मुलायम परिवार में फिर से संग्राम छिड़ सकता है।

ज्यादातर विधायक अखिलेश यादव के पक्ष में

आपको बता दें कि समाजवादी कुनबे में मचा कोहराम हाल ही में शांत हुआ था। 2017 में बहुमत मिलने पर अखिलेश को सीएम बनाने के सवाल पर मुलायम सिंह यादव ने दो महीने पहले कहा था कि मुख्यमंत्री का फैसला संसदीय बोर्ड और विधायक दल लेंगे। उस वक्त शिवपाल ने बयान दिया था कि वो खुद अखिलेश को मुख्यमंत्री बनाने का प्रस्ताव रखेंगे। अब शिवपाल ने कहा है कि नेताजी ने जो कहा था, वो ठीक है। मुख्यमंत्री का फैसला विधायक दल ही करेगा। समाजवादी पार्टी में बड़ी संख्या में विधायक और मंत्री अखिलेश के चेहरे को सामने रखकर चुनाव लड़ना चाहते हैं। ऐसे में शिवपाल यादव का बयान पार्टी में टूट के संकेत दे रहा है। ये भी पढ़ें -अखिलेश की पसंद को दरकिनार कर सपा ने गायत्री प्रजापति को बनाया राष्ट्रीय सचिव

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
shivpal yadav said that mlas will select the chief minister in uttar pradesh election 2017.
Please Wait while comments are loading...