सपा के संग्राम को खत्म करने के लिए साथ बैठे पिता-पुत्र

समाजवादी पार्टी के भीतर के घमासान को खत्म करने के लिए अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के बीच बैठक जारी, विवाद को खत्म करने के लिए पिछले 10 दिनों में 8वीं बैठक

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में बंटवारे को बचाने के लिए मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव एक बार फिर से कोशिश में जुट गए हैं। मुलायम सिंह से अखिलेश यादव उनके आवास पर मुलाकात करने पहुंचे हैं, माना जा रहा है कि इस मुलाकात के जरिए मुलायम सिंह अखिलेश यादव को उनकी शर्तों पर मनाने की अंतिम कोशिश करेंगे। सपा को बचाने के लिए पार्टी के भीतर यह लगातार आठवीं कोशिश हो रही है, ऐसे में कहा जा सकता है कि यह मुलाकात निर्णायक साबित हो सकती है।

mulayam

सपा के भीतर पार्टी के चुनाव चिन्ह को लेकर संग्राम चल रहा है और पार्टी के दोनों गुट इस विवाद को लेकर चुनाव आयोग पहुंच चुके हैं, ऐसे में ना सिर्फ अखिलेश यादव बल्कि मुलायम सिंह के सामने सबसे बड़ी चुनौती है पार्टी के चुनाव चिन्ह साइकिल को सीज होने से बचाना। चुनाव की तारीकों का ऐलान हो चुका है और प्रदेश में पहले चरण का मतदान 11 फरवरी को होना है और नामांकन की तारीख में महज कुछ ही दिनों का समय बचा है, लिहाजा दोनों ही गुट इस कोशिश में लगे हैं कि जल्द से जल्द इस विवाद को सुलझा लिया जाए।

इसे भी पढ़ें- सपा के भीतर पार्टी कार्यालय पर कब्जे को लेकर छिड़ी निर्णायक जंग

मुलायम सिहं यादव ने इस विवाद को सुलझाने के साफ संकेत देते हुए कहा था कि चुनाव जीतने के बाद अखिलेश यादव ही प्रदेश के मुख्यमंत्री होंगे, लेकिन इससे पहले वह यह कहने से बचते थे। इस लिहाज से देखा जाए तो मुलायम सिंह पार्टी के भीतर के विवाद को खत्म करने के लिए समझौता करने को तैयार हैं। बशर्ते अखिलेश यादव उन बातों को पर मुलायम सिंह से राजी हो जाए जिसका वो लंबे समय से विरोध कर रहे हैं, इसमें सबसे पहली शर्त है अमर सिंह का पार्टी से निष्कासन और टिकटों के बंटवारे पर अखिलेश को अधिकार।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Akhilesh yadav meets Mulayam Singh to resolve the issues. This 8th meeting to resolve the issues within 10 days.
Please Wait while comments are loading...