यूपी चुनाव: मुलायम सिंह यादव की लिस्ट पर अखिलेश यादव ने काटा चचेरे भाई का टिकट

Subscribe to Oneindia Hindi

आगरा। समाजवादी पार्टी का झगड़ा सुलझने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उम्मीदवारों की दो लिस्ट जारी की। इस लिस्ट में जहां उन्होंने अपने चाचा शिवपाल यादव को टिकट दिया। उन्हें एक बार फिर से जसवंतनगर सीट से चुनाव मैदान में पार्टी का उम्मीदवार बनाया है। दूसरी ओर उन्होंने अपने ही चचेरे भाई का टिकट काट दिया। हालांकि इससे पहले अखिलेश यादव ने जो लिस्ट जारी की थी उसमें चचेरे भाई अंशुल यादव का नाम शामिल था। उन्हें अखिलेश यादव ने उस समय मैनपुरी की करहल सीट से उम्मीदवार बनाया था हालांकि ताजा जारी लिस्ट में उनका नाम गायब है। अंशुल यादव इटावा का जिला पंचायत अध्यक्ष है।

akhilesh

चचेरे भाई अंशुल यादव को टिकट देने की थी चर्चा

अंशुल यादव की उम्मीदवारी अखिलेश यादव ने उस समय पेश की थी जब उनका अपने पिता मुलायम सिंह यादव और चाचा शिवपाल यादव से विवाद चल रहा था। उस समय शिवपाल यादव ने पार्टी उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की थी जिसके बाद अखिलेश यादव ने भी एक लिस्ट जारी थी। इसमें उन्होंने मैनपुरी के सभी विधायकों का नाम अपनी लिस्ट में शामिल किया था सिवाय सोबरन सिंह का नाम छोड़ कर, उनकी जगह पर अंशुल यादव को अखिलेश यादव ने करहल से पार्टी का उम्मीदवार बनाया था। फिलहाल समाजवादी पार्टी का झगड़ा चुनाव आयोग के फैसले के बाद सुलझ गया। अखिलेश यादव पार्टी के सर्वेसर्वा बन गए और इस बीच उन्होंने पार्टी उम्मीदवारों की दो लिस्ट जारी की। इसमें उन्होंने मुलायम सिंह यादव की ओर से भेजे गए 38 उम्मीदवारों के नाम को भी शामिल किया। इसी के चलते करहल विधानसभा सीट पर अंशुल यादव की जगह पर सोबरन सिंह को टिकट दिया गया।

सपा की ताजा जारी लिस्ट में शिवपाल यादव के कई करीबियों को जगह नहीं मिली है। इनमें एटा सदर से विधायक आशीष यादव का टिकट कटा है। वहीं नसी खान की बेटी और कासगंज के पटियाली सीट से विधायक जीनत खान को भी टिकट नहीं मिला है। फिरोजाबाद के जसराना से विधायक और शिवपाल यादव के करीबी रामवीर यादव, टुंडला से महाराज सिंह ढांगर और शिकोहाबाद से विधायक ओमप्रकाश वर्मा का टिकट कटा है।
इसे भी पढ़ें:- मुलायम के करीबी अंबिका चौधरी बसपा में शामिल, मायावती ने हाथों-हाथ दिया टिकट
टिकट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Akhilesh Yadav denied ticket his cousin he had earlier declared candidate Mainpuri.
Please Wait while comments are loading...