समाजवादी स्मार्टफोन पोस्टर पर अखिलेश की फोटो, आचार संहिता का उल्लंघन

Subscribe to Oneindia Hindi

मिर्जापुर। उत्तर प्रदेश में मिर्जापुर जिला प्रशासन की ओर से मतदाता जागरूकता के लिए तैयार कराए जाने वाले रंगोली कार्यक्रम की तैयारियों की बैठक में समाजवादी स्मार्टफोन वितरण योजना का प्रचार किया जा रहा है। अधिकारी बकायदे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की फोटो लगे पोस्टर को बंटवा रहे है। सोमवार को नगर के बीएलजे इंटर कालेज में हुई प्रधानाध्यापकों व अध्यापकों की बैठक में समाजवादी स्मार्टफोन वितरण योजना का पोस्टर भी बांटा गया। Read Also: सपा के संग्राम को खत्म करने के लिए साथ बैठे पिता-पुत्र

समाजवादी स्मार्टफोन पोस्टर पर अखिलेश की फोटो, आचार संहिता का उल्लंघन
 

पोस्टर जिला विद्यालय निरीक्षक फूलचंद यादव की तरफ से बंटवाए गए इस पोस्टर पर समाजवादी स्मार्टफोन के लिए पंजीकरण कराने की आखिरी तिथि एवं अन्य सूचनाएं दी गयी है। कुछ अध्यापकों और प्रधानाचार्यों ने आपत्ति भी जतायी पर मामला विभाग के उच्चाधिकारी से जुड़ा होने के कारण वे खुलकर विरोध नहीं पाए। शासन से आचार संहिता लागू होने से सप्ताह भर पूर्व सभी जिलों के अधिकारियों को समाजवादी स्मार्टफोन वितरण के लिए अधिक से अधिक युवक-युवतियों का रजिस्ट्रेशन कराने का निर्देश भेजा था। शासन के निर्देश पर डीएम ने जिले के अफसरों की बैठक लेने के बाद लक्ष्य का आवंटन कर दिया।

जिला विद्यालय निरीक्षक को सर्वाधिक 50 हजार छात्र-छात्राओं का रजिस्ट्रेशन विभिन्न स्कूलों के माध्यम से कराना था पर इस बीच चार जनवरी को निर्वाचन आयोग ने विस चुनाव की तिथियों का ऐलान कर दिया। इसी के साथ जिले में भी आचार संहिता लागू हो गयी, पर शासन से दिए गए पंजीकरण के लक्ष्य को पूरा करने के लिए डीआईओएस को मजबूरन अध्यापकों और प्रधानाचार्यों को स्मार्टफोन वितरण योजना का निर्देश लिखा पोस्टर बंटवाना पड़ रहा है। उप निर्वाचन अधिकारी विजय बहादुर सिंह ने कहा कि इस संबंध में हमें जानकारी नहीं है। यदि ऐसा है तो मामले की जांच कराके कार्रवाई की जाएगी। Read Also: यूपी चुनाव: अखिलेश-शिवपाल की रार का फायदा उठाने में लगे हैं सपा प्रत्याशी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Photo of Akhilesh Yadav is on the poster of Samajwadi smartphone which was distributed in a college violating election code of conduct.
Please Wait while comments are loading...