श्रीनगर दौरे पर हम खुद गए और हमें किसी ने समर्थन नहीं किया: यशवंत सिन्हा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

श्रीनगर। घाटी में बिगड़े हालात के बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने श्रीनगर का दौरा किया और अलगाववादी नेताओं से मुलाकात की। इस दौरे को लेकर उन्होंने बताया कि हम किसी के कहने पर या फिर समर्थन से श्रीनगर नहीं गए।

yashwant

'घाटी का दौरा करने की योजना उन्होंने खुद बनाई'

श्रीनगर दौरे को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने बताया कि कश्मीर घाटी में पिछले कई महीनों से हालात बेहद खराब हैं। आखिर इसकी वजह क्या है और ऐसा क्यों हो रहा है? इसी की पड़ताल के लिए हम श्रीनगर गए।

BSF की जवाबी कार्रवाई में 15 पाक रेंजर्स ढेर, चेकपोस्ट तबाह तो कई घर भी खाक

उन्होंने बताया कि वहां उन्होंने अलगाववादी नेताओं से मुलाकात की। उनके पक्ष को सुना। जानने और समझने की कोशिश की कि आखिर हालात बिगड़ने की वजह क्या है?

उन्होंने बताया कि घाटी का दौरा करने की योजना उन्होंने अकेले बनाई। उन्हें इसके लिए किसी का समर्थन नहीं मिला है। उन्होंने बताया कि हमने वहां अलगाववादी नेताओं के साथ-साथ लोगों से भी बात की। उनकी बातों को गौर से सुना।

घाटी में बिगड़े हालात के चलते किया श्रीनगर का दौरा

बता दें कि नौ जुलाई को हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद से घाटी में हालात बिगड़े हुए हैं।

चीन दुनिया के सामने करने जा रहा परमाणु पनडुब्बी का खुलेआम प्रदर्शन

इसी के मद्देनजर पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता यशवंत सिन्‍हा समेत पांच सदस्‍यीय दल कश्‍मीर के हालात सुलझाने और अलगाववादी नेताओं से मुलाकात के लिए श्रीनगर पहुंचे।

अलगाववादी नेताओं से मुलाकात में सबसे खास है हुर्रियत कांफ्रेस के नेता सैयद अली शाह गिलानी से हुई उनकी मुलाकात।

अलगाववादी नेताओं ने रखी शर्त

गिलानी ने इस मुलाकात में सिन्‍हा से जो दो शर्तें रखी हैं उसमें 6,000 लोगों की रिहाई और 450 लोगों पर पबिलक सेफ्टी एक्‍ट को हटाना है।

PM के विदेश दौरे में एयर इंडिया के बिल का भुगतान देर से क्यों- RTI

यशवंत सिन्‍हा से मुलाकात के बाद भी अलगाववादी नेताओं ने विरोध प्रदर्शनों का एक नया कैलेंडर जारी किया है। इस कैलेंडर में 18 अक्‍टूबर और नवंबर में विरोध प्रदर्शनों की मांग की गई है।

इस कैलेंडर की खास बात है कि इसमें अलगाववादी नेताओं ने किसी भी तरह से पाकिस्‍तान के लिए प्रार्थना करने और पाक के समर्थन में नारे लगाने की बात नहीं कही है। विशेषज्ञ मान रहे हैं कि निश्चित तौर पर यह एक बदलाव का संकेत है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Yashwant Sinha talks on his kashmir tour and separatist leaders in srinagar.
Please Wait while comments are loading...