कश्मीर हिंसा: सुरक्षा बलों की फायरिंग में मारे गए 3 प्रदर्शनकारी

Subscribe to Oneindia Hindi

श्रीनगर। बीते 38 दिनों से कर्फ्यू ग्रस्त कश्मीर घाटी में हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। मंगलवार सुबह घाटी के बड़गाम में प्रदर्शन कर रहे 3 प्रदर्शनकारी सुरक्षाबलों की फायरिंग में मारे गए।

बताया जा रहा है कि यह हादसा तब हुआ जब प्रदर्शनकारियों के एक गुट ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया।

इन 3 मौतों के बाद कश्मीर में मौतों की संख्या बढ़कर 65 हो गई है। इससे पहले कश्मीर मुद्दे पर हुई सर्वदलीय बैठक में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि घाटी में व्यापर सुरक्षा समीक्षा के बाद ही चरणबद्ध तरीक से कर्फ्यू हटाया जाएगा।

मोबाइल और इंटरनेट है बंद

बता दें हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से ही कश्मीर में मोबाइल और इंटरनेट बंद है हालांकि घाटी मे भारत संचार निगम लिमिटेड ( बीएसएनएल ) की पोस्टपेड सेवाएं अभी भी जारी हैं।

कश्मीर मुद्दे पर बातचीत के लिए पाकिस्तान ने भारत को भेजा न्योता

वहीं पिछले शुक्रवार को नमाज के दौरान घाटी में कई स्थानों पर सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसात्मक झड़प हुई थी। इमें 3 लोगों की मौत हुई थी जबकि कई अन्य लोग घायल भी हुए थे।

1000 प्रदर्शनकारी हुए गिरफ्तार

अभी तक के आंकड़ो के मुताबिक पुलिस और सुरक्षाबलों ने घाटी में करीब 1000 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया है। बीते एक माह में करीब 80 सरकारी संस्थाओं जिसमें पुलिस स्टेशन भी शामिल हैं, उन्हें प्रदर्शनकारियों द्वारा या तो जला दिया गया था या फिर उन्हें नुकसान पहुंचाया गया था।

आतंकी कर रहे हैं बुरहान का समर्थन, कहा - हर घर से बुरहान निकलेगा, तुम कितने बुरहान मारोगे

वहीं अब तक की कार्रवाई में स्थानीय पुलिस और सीआरपीएफ के करीब 3300 जवान जुलाई से अब तक घायल हुए हैं। कश्मीर में दो पुलिस कर्मियों की मौत हो गई। कर्फ्यू लगने के बाद से ही घाटी के हालात बद से बद्तर हो गए हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Two more protesters killed in firing by security forces
Please Wait while comments are loading...