रियो में जगी उम्मीद : साक्षी मलिक ने कुश्ती रेपचेज का पहला मुकाबला जीता, पदक से बस एक कदम दूर

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

रियो डी जेनेरियो। कुश्ती के क्वॉर्टरफाइनल में हारने के बाद कांस्य पदक की दौड़ के लिए रेपचेज मुकाबले में भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक ने अपना पहला मुकाबला जीत लिया है। उन्होंने मंगोलिया की अपनी विरोधी ओरखोन पूरेबदोर्ज को 12-3 से शिकस्त दी।

पहले पीरियड में बराबरी की टक्कर के बाद दूसरे पीरियड में भारतीय पहलवान हावी रही और उसने ओरखोन के चारों खाने चित कर दिए।

कुश्ती के क्वॉर्टरफाइनल में हारने के बाद कांस्य पदक की दौड़ के लिए रेपचेज मुकाबले में भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक ने अपना पहला मुकाबला जीत लिया है।

साक्षी को कांस्य पदक पक्का करने के लिए देर रात ढाई बजे किर्गिस्तान की पहलवान एसुलू तिनिवेकोवा से होने वाले मुकाबले में जीतना होगा। अगर वह इसमें जीत जाती हैं तो भारत का रियो ओलंपिक में पदक का खाता खुुल जाएगा।

रियो : ओलंपिक कुश्ती के क्वॉर्टरफाइनल में हारीं विनेश फोगट और साक्षी मलिक

यह मौका साक्षी को इसलिए मिल पाया क्योंकि फ्रीस्टाल स्पर्धा के 58 किलोग्राम भार वर्ग के क्वॉर्टरफाइनल में रूस की कोबलोवा वालेरिया से वह हारी थीं। कोबलोवा फाइनल में पहुंच गईं हैं इसलिए साक्षी को मौका मिल गया। हालांकि, दो रेपचेज मुकाबले जीतकर ही साक्षी का पदक तय होगा। अगला मुकाबला देर रात ढाई बजे होगा।

IOA के गुडविल अंबेसडर सलमान खान रियो ओलंपिक में भाग लेने वाले हर भारतीय खिलाड़ी को देंगे 1 लाख रुपए

हालांकि, महिला कुश्ती में उम्मीद तो विनेश फोगट ने भी जगाई थी लेकिन क्वॉर्टरफाइनल मुकाबले में चीन की सुन यनान से हारने की वजह से उन्हें बाहर होना पड़ा। इस मैच के दौरान उनके घुटने में चोट भी आई, जिसके चलते उन्हें स्ट्रेचर पर बाहर ले जाया गया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Rio Olympics 2016 : Indian wrestler sakshi malik a step away from broze medal to win. Shw won the first round of rapechase fight against mangolian wrestler.
Please Wait while comments are loading...