रियो विवाद पर विजय गोयल की सफाई, मैंने कोई गलत व्यवहार नहीं किया

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। रियो ओलंपिक में किसी भी तरह के विवाद से केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल ने इंकार किया है।

खेल मंत्री ने अपनी सफाई में कहा कि खुद उन्होंने या उनके प्रतिनिधिमंडल में से किसी ने भी रियो ओलंपिक से जुड़े स्टाफ के साथ कोई बदसलूकी नहीं की है। इस मामले में किसी ने कोई शिकायत भी दर्ज नहीं कराई है।

Vijay goel

आयोजकों की नाराजगी पर विजय गोयल की सफाई

इससे पहले आयोजकों की ओर से खेल मंत्री विजय गोयल की मान्यता को रद्द करने की धमकी दी गई थी। जिसके बाद विजय गोयल ने अपनी प्रतिक्रिया दी।

रियो में सेल्फी प्रेम से बुरे फंसे खेल मंत्री विजय गोयल

विजय गोयल ने कहा कि वह इस प्रतिष्ठित खेल आयोजन की अहमियत को बखूबी समझते हैं। उन्होंने और उनके प्रतिनिधिमंडल में शामिल लोग खेल गांव के नियम और शर्तों को समझते हैं। हमने आयोजकों द्वारा बताए गए सभी प्रोटोकॉल्स का पालन किया है, बावजूद इसके कहीं न कहीं कोई गलतफहमी हुई है जिससे ये विवाद हुआ है।

खेल मंत्री विजय गोयल के मुताबिक मेरी जानकारी में हमने सभी नियम माने हैं और हमारा इरादा केवल भारतीय खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाने का ही था।

खेल आयोजक ने मान्यता रद्द करने की दी थी धमकी

बता दें कि केंद्रीय मंत्री विजय गोयल खिलाड़ियों के साथ सेल्फी खिंचवाने को लेकर विवादों में आ गए। आयोजकों के मुताबिक खेल मंत्री प्रतिबंधित क्षेत्र में जाकर फोटो खिंचवा रहे हैं, जो कि नियमों के खिलाफ है। इस दौरान विजय गोयल अकेले नहीं होते हैं, साथ में उनके कई समर्थक भी होते हैं।

#Rio Olympics 2016: माइकल फेलप्स ने जीता 22वां गोल्ड

इसी मुद्दे पर रियो आयोजन समिति की कॉन्टीनेंटल मैनेजर साराह पीटरसन ने भारत के खेल मंत्री के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए एक पत्र भारतीय दल के प्रमुख राकेश गुप्ता को भेजा था।

पत्र में कहा गया था कि हमें खेल मंत्री के खिलाफ कई शिकायतें मिली हैं जिसमें पता चला है कि वह उन जगहों में घुसने की कोशिश करते हैं जहां जाने की उन्हें मान्यता नहीं है।

साराह पीटरसन के पत्र में आगे कहा गया है कि खेल गांव में ऐसा व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अगर आगे भी ऐसी घटना होती है तो जरूरी कार्रवाई की जाएगी। हमारी प्रोटोकॉल टीम इन घटनाओं को देख रही है, अगर स्थिति में बदलाव नहीं आया तो भारतीय खेल मंत्री मान्यता भी रद्द की जा सकती है। उन्हें ओलंपिक खेल में दी जा जाने वाली सुविधाएं भी वापस ली जा सकती हैं।

इसी मामले पर विजय गोयल ने अपना पक्ष रखा। दूसरी ओर भारतीय दल के प्रमुख राकेश गुप्ता ने घटना को खास तवज्जो नहीं देने की बात कही है। उन्होंने कहा कि खेल मंत्री विजय गोयल की जिस तस्वीर को लेकर विवाद हो रहा है वह हॉकी खेल के मैदान का मामला है। हालांकि विजय गोयल खुद भारतीय हॉकी खिलाड़ियों के बीच नहीं गए थे बल्कि उन्हें वहां खिलाड़ियों की हौंसला बढ़ाने के लिए बुलाया गया था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Vijay goel says There seems to be some misunderstanding as we have followed all protocols as advised by the Rio olympic organizers.
Please Wait while comments are loading...