रिक्शा ड्राइवर ने अपनी शूटर बेटी के लिए खरीदी 5 लाख की राइफल, लगा दी जिंदगी की सारी जमा-पूंजी

By: कमल भावसार
Subscribe to Oneindia Hindi

अहमदाबाद। रियो ओलंपिक में भारत की शान बेटियों ने बढ़ाई, यह आप सभी जानते हैं। इसी से प्रेरित होकर एक रिक्शा ड्राइवर ने अपनी शूटर बेटी को 5 लाख रुपए की कीमत वाली जर्मन राइफल खरीद कर दी है।

उन्होंने अपनी मेहनत की यह कमाई अपनी बेटी की शादी के लिए बचाकर रखी थी। अहमदाबाद में रहने वाले मणिलाल गोहिल रिक्शा ड्राइवर हैं और उन्होंने अपनी बेटी मित्तल को यह तोहफा दिया।

गोहिल नेशनल शूटिंग कॉम्पटीशन्स में हिस्सा लेती हैं। मणिलाल की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है लेकिन वह इसे अपनी बेटी के सपने की राह में नहीं आने देना चाहते।

यह भी पढ़ें : क्रिकेट : अगर ऐसा हुआ तो टेस्ट क्रिकेट के बाद टी20 क्रिकेट में भी गिरेगी भारत की रैंकिंग

चॉल में रहने वाले मणिलाल जब राइफल के लाइसेंस के लिए पुलिस कमिश्नर के पास पहुंचे तो वह खुद भी चकित रह गए! उन्होंने जरूरी औपचारिकताओं को पूरा करने में गोहिल की मदद की और बेटी के लिए उनके इस प्रयास की सराहना भी की।

यह भी पढ़ें : ​उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन ओलंपिक में पदक न जीतने वालों से कोयले की खदान में कराएगा काम

मित्तल गोहिल बीते चार वर्षों से शूटिंग सीख रही हैं। उन्होंने कहा कि हमारे परिवार ने जिंदगी में बहुत समझौते किए हैं। अब मुझे राइफल मिल गई है तो मैं लगन के साथ कड़ी मेहनत करूंगी और इंटरनेशनल शूटिंग कॉम्पटीशन्स में हिस्सा लूंगी। मित्तल आर्मी में शामिल होकर देशसेवा करने की ख्वाहिश रखती हैं। उनका छोटा भाई मितेश भी पिस्टल शूटिंग करता है।

क्रिकेट की खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

उन्होंन 2013 में एक नेशनल शूटिंग इवेंट में कांस्य पदक भी जीता था। मित्तल तो जैसे-तैसे राइफल तो मिल गई है लेकिन एक प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए उन्हें 1 हज़ार बुलेट लेने की भी जरूरत है, जो कि आर्थिक चुनौतियों की वजह से उनके लिए एक नई समस्या है।

कंटेंट साभार : Nav Gujarat Samay

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Manilal Gohil bought his only daughter Mittal - a national level shooter - a German made rifle worth Rs five lakh.
Please Wait while comments are loading...