रियो ओलंपिक : यह सेल्फी बनेगी इस महिला एथ​लीट के लिए सजा-ए-मौत की वजह, जानिए क्यों

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

रियो डी जेनेरियो। क्या सेल्फी लेना जान पर भारी पड़ सकता है तो हां यह मुमकिन है। दरअसल, इनदिनों सोशल मीडिया पर एक सेल्फी काफी हिट है। वायरल हो चुकी इस तस्वीर में दो लेडी जिमनास्ट साथ में हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि दो जिमनास्ट एकसाथ फोटो लें तो यह गुनाह तो नहीं है!

बिल्कुल सही, यह आपकी नज़र में गुनाह भले ही न हो लेकिन जिस देश से ये इत्तेफ़ाक रखती हैं, वहां यह गुनाह से भी कम नहीं है। छोटी ड्रेस पर अश्लील कॉमेंट करने वालों को बीबीसी की महिला प्रेजेंटर ने ऐसे दिया करारा जवाब

रियो ओलंपिक में ले रही हैं भाग

जी हां, हम बात कर रहे हैं उत्तरी कोरिया की हॉन्ग यूं और दक्षिणी कोरिया की एथलीट यू लू की। ये दोनों इनदिनों रियो ओलंपिक में भाग ले रही हैं।

इन्होंने ट्रेनिंग सेशन के दौरान दोनों देशों की आपसी कड़वाहट को नज़रअंदाज़ करते हुए खेल भावना दिखाई और एकसाथ फोटो क्लिक की। लेकिन यह सेल्फी इसे लेने वाली महिला जिमनास्ट हॉन्ग यूं के लिए जानलेवा साबित हो सकती है।

​मौत का है नियम!

खबर का शीर्षक पढ़ने के बाद आप भी ज़रा हैरान हुए होंगे, लेकिन यह सच है। ऐसा होने के पूरे आसार हैं। दरअसल, नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया में दुश्मनी है। नॉर्थ कोरिया में यह नियम है कि अपने दुश्मन देश के लोगों के साथ सेल्फी लेने पर सजा-ए-मौत सुनाई जाती है। वैसे भी वहां का तानाशाह किम जोंग बेरहम है।

उसकी सनक के आगे किसी की नहीं चलती। दुनियाभर में उसके किस्से मशहूर हैं। यहां तक कि वो अपने सबसे खास इंसान पर भी जल्द रहम नहीं करता। किसी को मौत के घाट उतार देना उसके लिए बाएं हाथ का खेल है।

रियो ओलंपिक : माइकल फेलप्स ने तैराकी में बनाया रिकॉर्ड, 70 मिनट में जीते 2 गोल्ड मेडल

इस सेल्फी के सामने आने के बाद से पूरे नॉर्थ कोरिया की टीम में पशोपेश की स्थिति बनी हुई है। दुश्मन देश की खिलाड़ी के साथ सेल्फी लेने का खामियाजा इस उत्तर कोरिया की एथलीट को उठाना ही पड़ेगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
North and South Korea gymnasts at the Rio 2016 Olympic Games : Lee Eun-ju of South Korea and Hong Un-jong of the North took a quick smiling snapshot during the training period before the start of the Games. The pictures of the two women have been widely praised as capturing the Olympic spirit.
Please Wait while comments are loading...