Rio Olympics ट्रैक फाइनल : ललिता बाबर 3000 मीटर स्टीपलचेज में नहीं दिला पाईं भारत को पदक

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

रियो डि जेनेरियो: भारत को रियो ओलिंपिक के 10वें दिन उस वक्त निराश होना पड़ा जब एथलीट ललिता बाबर ने पहले पदक की उम्मीदों को तोड़ दिया। महिलाओं की 3 हजार मीटर स्टीपलचेज में ललिता बाबर 10वें स्थान पर रहीं। बुरुंडी की रु​थ जेबेट ने गोल्ड, कीनिया की हाइविन किएंग जेप्किमोय ने सिल्वर और अमरीका की एमा कोबर्न ने कांसे पर कब्जा जमाया।

रियो ओलंपिक : बैडमिंटन के एकल पुरुष मुकाबले में जीतकर किदाम्बी श्रीकांत पहुंचे क्वॉर्टरफाइनल में

ललिता बाबर 3000 मीटर स्टीपलचेज में नहीं दिला पाईं पदक

आपको बता दें कि ललिता बाबर लंबी दूरी की वही महिला धावक हैं जिन्होंने 3 हजार मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा के फाइनल के लिए शनिवार को क्वॉलीफाई किया था। हर भारतीय की निगाहें आज ललिता पर टिकी होंगी। पिछले 32 वर्षों में ओलंपिक के लिए ट्रैक स्पर्धा का सेमीफाइनल क्वॉलीफाई करने वाली वह पहली भारतीय महिला एथलीट हैं।

#Rio Olympics Jumping: भारत के रंजीत माहेश्वरी पुरुष ट्रिपल जंप स्पर्धा में 30वें स्थान पर रहकर बाहर

इनसे पहले पीटी उषा ने 1984 में लॉस एंजिलिस में ऐसा कर दिखाया था। ललिता ने हीट-2 में अच्छी शुरुआत की लेकिन बीच में गिर जाने से उनकी लय बिगड़ गई। इसके बावजूद उन्होंने आधी रेस तक अपनी बढ़त को बरकरार रखा था।

 

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India's barren run on the track continued with Lalita Babar clocking 9:22.74 to finish 10th in the 3000m women's steeplechase final at Rio de Janeiro on Monday. The 27 year-old, who scripted history by becoming only the second Indian athlete since PT Usha to qualify for the final of a track event at the Olympics, couldn't quite breach her heat timing of 9:19.76. Bahrain's Ruth Jebet won gold with an incredible timing of 8:59.77, falling just short of the 8:58.81 world record.
Please Wait while comments are loading...